भारत का एकमात्र सक्रिय ज्वालामुखी है, बैरेन आइलैंड (Barren Island) ज्वालामुखी

लखनऊ

 27-06-2021 12:49 PM
पर्वत, चोटी व पठार
इंटरनेट पर ज्वालामुखियों से निकलने वाले गर्म लावा को देखना बहुत रोमांचक होता है। हाल ही में अंडमान और निकोबार द्वीप समूह में भारत के एक मात्र जीवित ज्वालामुखी में इस तरह का दृश्य देखने को मिला। गोवा स्थित नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ ओशनोग्राफी (National Institute of Oceanography - NIO) के शोधकर्ताओं के मुताबिक, अंडमान सागर में स्थित बैरेन द्वीप (Barren Island) ज्वालामुखी ने 150 से अधिक वर्षों तक निष्क्रिय रहने के बाद वर्ष 1991 में गतिविधि दिखाना शुरू किया और एक बार फिर से गर्म लावा को उगलना शुरू किया। वैज्ञानिकों की टीम ने अपने अवलोकन में पुष्टि की है, कि दिन के समय केवल राख के बादल देखे गए, जबकि सूर्यास्त के बाद, टीम ने वातावरण में क्रेटर (Crater) से निकलने वाले लाल लावा के फव्वारे देखे तथा गर्म लावा ज्वालामुखी की ढलानों से नीचे बहता हुआ दिखाई दिया। भारत में छह ज्वालामुखी मौजूद हैं, जिनमें से केवल एक जीवित ज्वालामुखी, बैरेन आइलैंड्स ज्वालामुखी है। इसे दक्षिण एशिया (Asia) के एकमात्र सक्रिय ज्वालामुखी के रूप में भी दर्ज किया गया है। यहां पहला रिकॉर्ड किया गया ज्वालामुखी विस्फोट 1787 को हुआ था। तो आइए, इन वीडियो के माध्यम से अंडमान और निकोबार द्वीप समूह के ज्वालामुखी, जो भारत का एकमात्र सक्रिय ज्वालामुखी है, पर तथा ज्वालामुखी की कुछ अन्य वीडियो पर एक नजर डालते हैं।

संदर्भ:
https://bit.ly/3quHems
https://bit.ly/35Tq6gz
https://bit.ly/3y0srT1


RECENT POST

  • 1869 तक मिथक था, विशाल पांडा का अस्तित्व
    शारीरिक

     26-06-2022 10:10 AM


  • उत्तर और मध्य प्रदेश में केन-बेतवा नदी परियोजना में वन्यजीवों की सुरक्षा बन गई बड़ी चुनौती
    निवास स्थान

     25-06-2022 09:53 AM


  • व्यस्त जीवन शैली के चलते भारत में भी काफी तेजी से बढ़ रहा है सुविधाजनक भोजन का प्रचलन
    स्वाद- खाद्य का इतिहास

     24-06-2022 09:51 AM


  • भारत में कोरियाई संगीत शैली, के-पॉप की लोकप्रियता के क्या कारण हैं?
    ध्वनि 1- स्पन्दन से ध्वनि

     23-06-2022 09:37 AM


  • योग के शारीरिक और मनो चिकित्सीय लाभ
    य़ातायात और व्यायाम व व्यायामशाला

     22-06-2022 10:21 AM


  • भारत के विभिन्‍न धर्मों में कीटों की भूमिका
    तितलियाँ व कीड़े

     21-06-2022 09:56 AM


  • सोशल मीडिया पर समाचार, सार्वजनिक मीडिया से कैसे हैं भिन्न?
    संचार एवं संचार यन्त्र

     20-06-2022 08:54 AM


  • अपने रक्षा तंत्र के जरिए ग्रेट वाइट शार्क से सुरक्षित बच निकलती है, सील
    व्यवहारिक

     19-06-2022 12:16 PM


  • संकट में हैं, कमाल के कवक, पारिस्थितिकी तंत्र में देते बेहद अहम् योगदान
    फंफूद, कुकुरमुत्ता

     18-06-2022 10:02 AM


  • बढ़ते शहरीकरण के इस युग में पक्षियों के अनुकूल बुनियादी ढांचे बनाने की आवश्यकता है
    पंछीयाँ

     17-06-2022 08:13 AM






  • © - 2017 All content on this website, such as text, graphics, logos, button icons, software, images and its selection, arrangement, presentation & overall design, is the property of Indoeuropeans India Pvt. Ltd. and protected by international copyright laws.

    login_user_id