सोशल मीडिया में वित्तीय प्रभावक और युवा पीढ़ी में उनकी बढ़ती लोकप्रियता

रामपुर

 09-10-2021 05:44 PM
सिद्धान्त I-अवधारणा माप उपकरण (कागज/घड़ी)

सोशल मीडिया (Social Media) के माध्यम से ऑनलाइन (Online) वित्त के बारे में ज्ञान प्राप्त करने और वित्त प्रभावकों के उदय के साथ आजकल युवा पीढ़ी में यह काफी आमतौर से सुना जा सकता है कि "यह वित्तीय सलाह नहीं है।"
जनरेशनजेड (Generation Z -जेनरेशनजेड के लिए शीर्ष सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म (Platform)इंस्टाग्राम (Instagram),यूट्यूब (Youtube) और टिकटॉक (Tiktok) आदि है।) के पसंदीदा सोशल नेटवर्क पर वित्तीय सलाह वीडियो काफी प्रचलित हो रहे हैं, लेकिन क्या हम में से कोई यह जानता है कि युवाओं को निवेश करने के बारे में कौन शिक्षित कर रहा है? सरल शब्दों में कहें, एकवित्तीय प्रभावकजिन्हें अक्सर'फिनफ्लुएंसर (Finfluencer)' कहा जाता है, ये सामान्य निवेशक को शेयर बाजार व्यापार, व्यक्तिगत वित्त और म्यूचुअलफंड (Mutual funds) जैसे वित्तीय विषयों की एक सरणी पर जानकारी और सलाह देते हैं।वे आमतौर पर यूट्यूब को अपनी सलाह के मुख्य मंच के रूप में उपयोग करते हैं, जहां वे ज्यादातर हिंदी या क्षेत्रीय भाषा में वीडियो (Video)डालते हैं। छोटे शहरों के नवनिर्मित निवेशक को आकर्षित करने के लिए वे 'हिंग्लिश', हिंदी और अंग्रेजी के मिश्रण का उपयोग करते हैं।साथ ही बड़ी संख्या में निवेशक इनसे जुड़ रहे हैं और कई लोकप्रिय वित्तीय प्रभावकों के लाखों की संख्या में लोग अनुसरण करते हैं।
नेशनल सेंटर फॉर फाइनेंशियल एजुकेशन (National Centre for Financial Education) के 2019 के सर्वेक्षण के अनुसार, इन 10-20 मिनट लंबे वीडियो में सबसे अधिक लोकप्रिय वीडियो भारत की कम वित्तीय साक्षरता दर के बारे में समझाती है।इसलिए स्वाभाविक रूप से,विशेष रूप से दूर-दराज के कस्बों और शहरों से पहली बार निवेश करने वाले, इन वित्तपोषकों की ओर आकर्षित होते हैं। इससे यह भी पता चलता है कि उनके कुछ सबसे ज्यादा देखे जाने वाले अधिकांश वीडियो "अपना पहला शेयर (Share) कैसे खरीदें", "सोने से नियमित आय कैसे प्राप्त करें", या यहां तक कि "कैसे 20 वर्षों में 2.5 करोड़ कमाएं?" इसके अतिरिक्त, सुलभ वित्तीय जानकारी की अनुपलब्धता के कारण प्रभावशाली लोगों का विकास हुआ, जो सरल और आसानी से समझने योग्य शब्दों में वित्त की व्याख्या कर सकते थे।इसलिए, इंस्टाग्राम पर वित्त प्रभावितों की आमद के माध्यम से आम जनता मूल्यवान वित्तीय जानकारी तक पहुंच प्राप्त कर सकती है।आज हर कोई "कैसे करें?" शब्द के बारे में जानने और जानकारी प्राप्त करने के लिए उत्सुक है। उदाहरण के लिए, ऑनलाइन बैंकिंग में कैसे लॉगिन (Login) करें; आसान ऋण कैसे प्राप्त करें, स्टॉक में कैसे निवेश करें आदि।एक निश्चित काम कैसे किया जाए ऐसे सवाल दर्शकों की दिलचस्पी के होते हैं तथा इन प्रश्नों के आसान समाधान प्रदान करके प्रभावक द्वारा समर्थन किए जाने वाले ब्रांडों (Brand) को लाभ होने की सबसे अधिक संभावना होती है। इस बढ़ती लोकप्रियता के कारण आज एचडीएफसी (HDFC) जैसे लोकप्रिय फिनटेक (Fintech) ब्रांडों ने अपनी विपणन योजना के प्रमुख समावेश के रूप में प्रभावशाली विपणन को अपनाया है।इन दो वर्षों में भारत में वित्तीय कंपनियों की लोकप्रियता में भी एक विस्फोट देखा गया क्योंकि लाखों नए निवेशकों ने बाजार में प्रवेश किया। व्यापार का लोकतंत्रीकरण किया गया क्योंकि नए जमाने की ब्रोकिंग (Broking) व्यवसाय-प्रतिष्ठानों ने ऐप्स (Apps) का उपयोग करना आसान बना दिया।किफायती स्मार्टफोन (Smartphone), सस्ते डेटाप्लान (DataPlan) और डिजिटल (Digital) भुगतान की सर्वव्यापकता ने भी इसकी लोकप्रियता में मदद की है।
वहीं भारत के शीर्ष फाइनेंसरों की लोकप्रियता इस तथ्य से स्पष्ट है कि उनके पास ज़ेरोधा (Zerodha), ग्रो (Groww), अपस्टॉक्स (Upstox) और 5पैसा (5Paisa) जैसी नए जमाने की ब्रोकिंगफर्मों के साथ-साथ आईआईएफएल (IIFL), कोटक सिक्योरिटीज (Kotak Securities), आईसीआईसीआई डायरेक्ट (ICICI Direct) और एंजेलब्रोकिंग (Angel Broking) जैसे पारंपरिक व्यवसायों की तुलना में अधिक YouTube अभिदाता हैं।उच्च ग्राहकों की संख्या के परिणामस्वरूप भारतीय फिनफ्लुएंसर (विशेष रूप से मिलियन से अधिक अनुयायियों वाले)को काफी वित्तीय लाभ हुआ है। हालांकि उनकी वीडियो को मुफ्त में देखा जा सकता है, लेकिन एक वित्तीय प्रभावक, अन्य श्रेणियों की तरह, गूगल विज्ञापन, शहभागिता और साझेदारी जैसे कई स्रोत से आय का सृजन करते हैं।ये सभी स्रोत कमाई में लाखों तक जोड़ सकते हैं। एक अनुमान के मुताबिक यह आंकड़ा हर महीने 15 लाख रुपये से ज्यादा है।एक बार जब आपके एक मिलियन से अधिक अनुयायी हो जाते हैं और ब्रोकिंगफर्मों के साथ जुड़कर साप्ताहिक आधार पर वीडियो बना रहे होते हैं, तो मासिक आय 15 लाख रुपये से 30 लाख रुपये के बीच कहीं भी हो सकती है।हालांकि, आपूर्ति की गुणवत्ता सर्वोपरि है। अच्छी पत्रकारिता के लिए अच्छी सामग्री के नियम बहुत अलग नहीं हैं: यह जानकारीपूर्ण, समझने में आसान और निष्पक्ष होना चाहिए। वित्त एक महत्वपूर्ण मुद्दा है और इसलिए वित्तीय प्रचार और विपणन के नियम विपणन के अन्य रूपों की तुलना में सख्त हैं। जब कोई वित्तीय संस्थान अपने विज्ञापन अभियानों के लिए प्रभावशाली लोगों का लाभ उठाने का निर्णय लेता है, तो उन्हें संघीय व्यापार आयोग और वित्तीय उद्योग नियामक प्राधिकरण द्वारा निर्धारित नियमों और दिशानिर्देशों का पालन करने की आवश्यकता होती है।संघीय व्यापार आयोग के अनुसार, प्रभावशाली और ब्रांड के बीच संबंध के संदर्भ में पारदर्शिता की आवश्यकता होती है। सरल विचार यह है कि ऐसे विनिर्देशों की आवश्यकता है जो यह उल्लेख करें कि पोस्ट एक सशुल्क प्रचार पोस्ट है।इससे दर्शकों को यह जानने में मदद मिलती है कि प्रभावक ब्रांड की विचारधारा से अलग हो सकता है। हालांकि ज्यादातर मामलों में, प्रभावक निष्पक्ष निर्णय लेते हैं और केवल उन्हीं ब्रांडों को बढ़ावा देते हैं जहां वे अपना विश्वास रखते हैं।इसके अतिरिक्त, वित्तीय उद्योग नियामक प्राधिकरण के तहत, प्रभावक या व्यक्तियों को अब एक विशिष्ट स्टॉक या निवेश विचार का समर्थन करने की अनुमति है। इसलिए, प्रभावशाली लोगों के माध्यम से वित्तीय विपणन का अब विस्तार हो गया है।जब हम वित्त प्रभावित करने वालों पर चर्चा कर रहे हैं, तो हमें यह भी याद रखना चाहिए कि लोकप्रिय प्रभावक अपने व्यक्तिगत अनुभवों के आधार पर वित्त प्रभावकों के रूप में भी काम कर सकते हैं।

संदर्भ :-
https://bit.ly/3ajhSR4
https://bit.ly/3AmG0wE
https://bit.ly/3lmRFaB
https://bit.ly/3AyoOEN
https://bit.ly/3iHEq2v
https://bit.ly/3DnTKsS

चित्र संदर्भ
1. ऑनलाइन निवेश मंच को दर्शाता एक चित्रण (Instinctif Partners)
2. नेशनल सेंटर फॉर फाइनेंशियल एजुकेशन (National Centre for Financial Education) के लोगो को दर्शाता एक चित्रण (twitter)
3. मोबाइल में ग्रो एप्प को दर्शाता एक चित्रण (Money Inc)



RECENT POST

  • जमीन और पानी दोनों के भीतर सांस लेने में सक्षम है, लंगफिश
    शारीरिक

     17-10-2021 11:44 AM


  • उत्तर प्रदेश का कांच उद्योग और कांच धमन के कार्यक्षेत्र का भविष्य
    खनिज

     16-10-2021 05:25 PM


  • दम या जीवन दायक भाप में बनता है रामपुर का लज़ीज़ दम पुलाव
    स्वाद- खाद्य का इतिहास

     15-10-2021 05:25 PM


  • भारत के चारों तरफ दशहरा या विजयदशमी मनाने की अनूठी परंपरा
    विचार I - धर्म (मिथक / अनुष्ठान)

     14-10-2021 05:54 PM


  • एक अध्ययन के अनुसार वर्ष 2100 तक पृथ्वी के 23 प्रतिशत प्राकृतिक आवास समाप्त हो सकते हैं
    निवास स्थान

     13-10-2021 05:51 PM


  • औद्योगिक युग के लिए एक आवश्यक उत्पाद है रबर
    पेड़, झाड़ियाँ, बेल व लतायें

     12-10-2021 05:37 PM


  • यदि प्रदूषण कम करना मजबूरी है , तो वृक्ष गणना जरूरी है
    नगरीकरण- शहर व शक्ति

     11-10-2021 02:11 PM


  • सबसे बड़े गोला क्षेत्र डिजाइनों में से एक है,एटिने-लुई बौली द्वारा डिजाइन किया गया स्मारक
    वास्तुकला 1 वाह्य भवन

     10-10-2021 12:49 AM


  • सोशल मीडिया में वित्तीय प्रभावक और युवा पीढ़ी में उनकी बढ़ती लोकप्रियता
    सिद्धान्त I-अवधारणा माप उपकरण (कागज/घड़ी)

     09-10-2021 05:44 PM


  • आरामदायक अनुभव प्रदान करती है कपड़े की बनावट
    स्पर्शः रचना व कपड़े

     08-10-2021 01:14 PM






  • © - 2017 All content on this website, such as text, graphics, logos, button icons, software, images and its selection, arrangement, presentation & overall design, is the property of Indoeuropeans India Pvt. Ltd. and protected by international copyright laws.

    login_user_id