रामपुर के शाही इतिहास को दर्शाती कुछ दुर्लभ तस्वीरें

रामपुर

 01-10-2021 10:33 AM
वास्तुकला 1 वाह्य भवन

कहा जाता है की यदि किसी देश के इतिहास को समझना हो, तो वहां की प्राचीन इमारतों और संरचनाओं को समझों! भारत में विशेष तौर पर प्राचीन इमारतों में प्रयोग की गई वास्तुकलाएँ आपको राजशाही दौर की विलासिता से लेकर ब्रिटिश काल की गुलाम जिंदगी तक सब कुछ स्पष्ट रूप से बता सकती हैं। जिसका प्रत्यक्ष प्रमाण हमें प्रसिद्ध कर्जन संग्रह की 'रामपुर एल्बम” से प्राप्त कुछ दुर्लभ तस्वीरों से मिलता है।
दरअसल कर्जन सग्रह के “ रामपुर एल्बम” में महल सराय पैलेस सहित इकाई दुर्लभ तस्वीर चित्रित है। महल सराय पैलेस को सन 1905 में एक अज्ञात फोटोग्राफर द्वारा चित्रित किया गया था। इस चित्र में किले और महल परिसर का पुनर्निर्माण ब्रिटिश काल के प्रमुख वास्तुकार डब्ल्यू सी राइट (W.C. Wright) द्वारा किया गया था। डब्ल्यू सी राइट द्वारा इमारतों के निर्माण में सर्वाधिक प्रयोग की जाने वाली शैली को "इंडो-सरसेनिक (Indo-Saracenic") के नाम से जाना जाता है।
इंडो-सरसेनिक वास्तुकला को इंडो-गॉथिक, मुगल-गॉथिक, नियो-मुगल, एंग्लो इंडियन वास्तुकला या हिंदू शैली के रूप में भी जाना जाता है। यह वास्तुकला की एक पुनरुत्थानवादी स्थापत्य शैली थी, जिसे 19 वीं शताब्दी के अंत से ब्रिटिश वास्तुकारों द्वारा बहुतायत में प्रयोग किया गया। इस वास्तुकला का प्रयोग विशेष रूप से सार्वजनिक और सरकारी भवनों के निर्माण में किया गया। रामपुर एल्बम चित्रित महल सराय पैलेस के पुनरुत्थान में भी इसी शैली का प्रयोग किया गया। इंडो-सारासैनिक वास्तुकला अपनी गुम्बदों, झरोखों, मेहराबों, मीनारों, छतरियों, छज्जों व खम्बों के विशिष्ट होने के कारण सुन्दर व लुभावनी मानी जाती है।
ऊपर दिया गया चित्र “कर्जन संग्रह” में से लिया गया है, यह उत्तर प्रदेश के रामपुर किले में स्थित " राइट गेट" का चित्रण है। जिसे c.1905 में एक अज्ञात फोटोग्राफर द्वारा लिया गया। चित्रित गेट का नाम एक प्रमुख ब्रिटिश वास्तुकार डब्ल्यू.सी. राइट (जिनका वर्णन हमने ऊपर भी किया है) के सम्मान में रखा गया। राइट की 'इंडो-सरसेनिक' वास्तुकला 19 वीं सदी के अंत और 20 वीं शताब्दी की शुरुआत में पूरे भारत में कई सार्वजनिक भवनों के लिए इस्तेमाल की जाने वाली शैली थी। रामपुर एल्बम की यह तस्वीर भारत के वायसराय लॉर्ड कर्जन को रामपुर के नवाब द्वारा 8 जून 1905 को शहर की अपनी यात्रा के उपलक्ष्य में प्रस्तुत की गई थी।
ऊपर दी गई तस्वीर को भी "कर्जन संग्रह" से लिया गया है, जिसमे उत्तर प्रदेश के रामपुर शहर में स्थित इस्लामिक गेट का चित्र दिया गया है। जिसे c.1905 में एक अज्ञात फोटोग्राफर द्वारा लिया गया था। रामपुर एल्बम की यह तस्वीर भी उन चुनिंदा तस्वीरों में से एक है, जो तत्कालीन भारत के वायसराय लॉर्ड कर्जन (Lord Curzon) को रामपुर के नवाब द्वारा 8 जून 1905 को शहर की अपनी यात्रा के उपलक्ष्य में प्रस्तुत की गई थी। हालांकि यह कर्जन की यात्रा का ऐतिहासिक रिकॉर्ड नहीं बल्कि रामपुर शहर का एक सामान्य विचार हैं।
ऊपर दी गई तस्वीर रामपुर में स्थित खुसरू बाग महल के अग्रभाग की है, जिसे 1911 में एक अज्ञात फोटोग्राफर द्वारा लिया गया था। खुसरू बाग महल भी डब्ल्यू सी राइट की इंडो सारसेनिक वास्तुकला का एक अनूठा नमूना है। यह पैलेस नवाब और उनके परिवार द्वारा उपयोग किए जाने वाले विभिन्न आवासों में से एक था। "रामपुर के विचारों " से ली गई उक्त तस्वीर को नवंबर 1911 में ब्रिटिश साम्राज्य के भारतीय कार्यालय को ब्रिटिश उत्सव के अवसर पर दिया गया। 1896-1930 तक रामपुर के नवाब रहे हामिद अली खान, क्रिस्टल पैलेस में आयोजित जॉर्ज पंचम के राज्याभिषेक के अवसर पर फेस्टिवल ऑफ एम्पायर प्रदर्शनी (Festival of Empires Exhibition) के प्रदर्शकों में से एक थे।
इन तस्वीरों के अलावा भी रामपुर एल्बम में कई ऐतहासिक तस्वीरें दर्ज हैं, जो हमारे रामपुर जिले के इतिहास को वर्णित करती हैं, तथा जिनमें इंडो सारसेनिक अथवा एंग्लो इंडियन वास्तुकला का प्रचुरता से प्रयोग किया गया है। उदहारण के लिए नीचे कुछ अन्य तस्वीरों का अवलोकन करते हैं।
यह रामपुर में ब्रिटिश काल में स्थित सचिवों के कार्यालय की तस्वीर है, जिसे 1911 में अज्ञात फोटोग्राफर द्वारा लिया गया था। इसके निर्माण में भी इंडो सारसेनिक वास्तुकला का प्रयोग किया गया है।
उक्त तस्वीर रामपुर किले के मेहमान घर की है, जिसे एक अज्ञात फोटोग्राफर द्वारा रामपुर के नज़ारे (views of Rampur) एल्बम से लिया गया है। इस भवन का निर्माण भी इंडो सारसेनिक शैली में किया गया है।
उक्त तस्वीर रामपुर जिले के आर्टिलरी लाइन्स (artillery lines) की है जिसका निर्माण भारतीय वास्तुकला शैली में किया गया है, इस तस्वीर को भी 1911 में एक अज्ञात फोटोग्राफर द्वारा लिया गया था।

संदर्भ

https://bit.ly/3mdXy9f
https://bit.ly/3urF1tI
https://bit.ly/3D1s39k
https://bit.ly/3mbKEc0
https://bit.ly/3F6ggbu
https://bit.ly/3insQcG
https://bit.ly/2ZBrKU3

चित्र संदर्भ

1. कर्जन सग्रह के “ रामपुर एल्बम” में महल सराय पैलेस का एक चित्रण (bl.uk)
2. उत्तर प्रदेश के रामपुर किले में स्थित राइट गेट का चित्रण (bl.uk)
3. उत्तर प्रदेश के रामपुर शहर में स्थित इस्लामिक गेट का एक चित्रण (bl.uk)
4. रामपुर में स्थित खुसरू बाग महल के अग्रभाग का एक चित्रण (bl.uk)
5. रामपुर में ब्रिटिश काल में स्थित सचिवों के कार्यालय का एक चित्रण (dsal.uchicago)
6. रामपुर किले के मेहमान घर का एक चित्रण (dsal.uchicago)
7. रामपुर जिले के आर्टिलरी लाइन्स (artillery lines) का एक चित्रण (dsal.uchicago)



RECENT POST

  • जमीन और पानी दोनों के भीतर सांस लेने में सक्षम है, लंगफिश
    शारीरिक

     17-10-2021 11:44 AM


  • उत्तर प्रदेश का कांच उद्योग और कांच धमन के कार्यक्षेत्र का भविष्य
    खनिज

     16-10-2021 05:25 PM


  • दम या जीवन दायक भाप में बनता है रामपुर का लज़ीज़ दम पुलाव
    स्वाद- खाद्य का इतिहास

     15-10-2021 05:25 PM


  • भारत के चारों तरफ दशहरा या विजयदशमी मनाने की अनूठी परंपरा
    विचार I - धर्म (मिथक / अनुष्ठान)

     14-10-2021 05:54 PM


  • एक अध्ययन के अनुसार वर्ष 2100 तक पृथ्वी के 23 प्रतिशत प्राकृतिक आवास समाप्त हो सकते हैं
    निवास स्थान

     13-10-2021 05:51 PM


  • औद्योगिक युग के लिए एक आवश्यक उत्पाद है रबर
    पेड़, झाड़ियाँ, बेल व लतायें

     12-10-2021 05:37 PM


  • यदि प्रदूषण कम करना मजबूरी है , तो वृक्ष गणना जरूरी है
    नगरीकरण- शहर व शक्ति

     11-10-2021 02:11 PM


  • सबसे बड़े गोला क्षेत्र डिजाइनों में से एक है,एटिने-लुई बौली द्वारा डिजाइन किया गया स्मारक
    वास्तुकला 1 वाह्य भवन

     10-10-2021 12:49 AM


  • सोशल मीडिया में वित्तीय प्रभावक और युवा पीढ़ी में उनकी बढ़ती लोकप्रियता
    सिद्धान्त I-अवधारणा माप उपकरण (कागज/घड़ी)

     09-10-2021 05:44 PM


  • आरामदायक अनुभव प्रदान करती है कपड़े की बनावट
    स्पर्शः रचना व कपड़े

     08-10-2021 01:14 PM






  • © - 2017 All content on this website, such as text, graphics, logos, button icons, software, images and its selection, arrangement, presentation & overall design, is the property of Indoeuropeans India Pvt. Ltd. and protected by international copyright laws.

    login_user_id