ऑप्टिकल भ्रम का अद्भुत उदाहरण पेश करता है, फाटा मोर्गाना

रामपुर

 01-08-2021 01:28 PM
जलवायु व ऋतु
एक फाटा मोर्गाना (Fata Morgana), श्रेष्ठ मिराज (Mirage) या मृगतृष्णा का जटिल रूप है, जो कि क्षितिज के ठीक ऊपर एक संकीर्ण पट्टी में दिखाई देता है। इटालियन शब्द फाटा मोर्गाना अर्थुरियन (Arthurian) जादूगरनी मॉर्गन ले फे (Morgan le Fay - मॉर्गन द फेयरी - Morgan the Fairy) के नाम से लिया गया है। ऐसा इसलिए है, क्यों कि माना जाता है, कि ये मृगतृष्णाएं, जो अक्सर मेसिना (Messina) की जलसंधि में देखी जाती है, हवा में मौजूद परी महल थे या नाविकों को उनकी मौत के लिए लुभाने के लिए उसके जादू टोने से गढ़ी गई झूठी भूमि थी। फाटा मोर्गाना मिराज, उस वस्तु या वस्तुओं को महत्वपूर्ण रूप से विकृत कर देती हैं, जिस पर वे आधारित होते हैं। इस प्रकार अक्सर वस्तु पूरी तरह से पहचानने योग्य नहीं हो पाती है। फाटा मोर्गाना जमीन पर या समुद्र में, ध्रुवीय क्षेत्रों में या रेगिस्तान में देखा जा सकता है। इसमें नावों, द्वीपों और समुद्र तट सहित लगभग किसी भी प्रकार की दूर की वस्तु शामिल हो सकती है। अक्सर, एक फाटा मॉर्गन तेजी से बदलता है। मिराज में कई उल्टी और सीधी छवियां शामिल होती हैं, जो एक दूसरे के ऊपर खड़ी होती हैं। फाटा मोर्गाना मिराज भी बारी-बारी से संकुचित और फैला हुआ क्षेत्र दिखाती है। एक फाटा मोर्गाना आमतौर पर ध्रुवीय क्षेत्रों में देखा जाता है, विशेष रूप से बर्फ की बड़ी चादरों पर, जिनमें एक समान कम तापमान होता है। हालाँकि, यह लगभग किसी भी क्षेत्र में देखा जा सकता है। ध्रुवीय क्षेत्रों में फाटा मोर्गाना घटना अपेक्षाकृत ठंडे दिनों में देखी जाती है। रेगिस्तान में, महासागरों और झीलों के ऊपर सम्भवतः गर्म दिनों में एक फाटा मोर्गाना देखा जा सकता है। फाटा मोर्गाना घटना उत्पन्न करने के लिए, थर्मल व्युत्क्रम इतना मजबूत होना चाहिए कि उल्टी परत के भीतर प्रकाश किरणों की वक्रता पृथ्वी की वक्रता से अधिक मजबूत हो। इन परिस्थितियों में किरणें झुकती हैं और चाप बनाती हैं। एक फाटा मोर्गाना को देखने में सक्षम होने के लिए एक पर्यवेक्षक को वायुमंडलीय वाहिनी के भीतर या नीचे होना चाहिए।
संदर्भ:
https://bit.ly/3fduYlK
https://bit.ly/37oRV1b


RECENT POST

  • मनोरंजन और कला के संयोजन से बना है प्राचीन ताश का खेल गंजीफा
    हथियार व खिलौने

     27-09-2021 12:04 PM


  • हर कल्पनीय समुद्री आवास के लिए खुद को अनुकूलित करने में सक्षम हैं, पॉलीचेट्स
    कीटाणु,एक कोशीय जीव,क्रोमिस्टा, व शैवाल

     26-09-2021 12:08 PM


  • टीकाकरण का डिजिटलीकरण जहां शहरों के लिए है सुविधा वहीं ग्रामीणों के लिए बना अजाब
    विचार 2 दर्शनशास्त्र, गणित व दवा

     25-09-2021 10:02 AM


  • जल्द ही मलेरिया भी बीते दिनों की बात होगी
    कीटाणु,एक कोशीय जीव,क्रोमिस्टा, व शैवाल

     24-09-2021 09:24 AM


  • भारत में कैंसर के बढ़ते रोगी भौगोलिक क्षेत्रों में कैंसर का स्वरूप भिन्न होता है
    विचार 2 दर्शनशास्त्र, गणित व दवा

     23-09-2021 11:04 AM


  • समुद्री सुपरस्टार है तारामछली
    मछलियाँ व उभयचर

     22-09-2021 08:59 AM


  • बंगाल स्कूल ऑफ आर्ट के प्रसंग से समझिये आज़ादी में कला के योगदान को
    द्रिश्य 3 कला व सौन्दर्य

     21-09-2021 09:40 AM


  • धतूरे की उत्‍पत्ति व शिव पूजा में इसका महत्व
    पेड़, झाड़ियाँ, बेल व लतायें

     20-09-2021 09:24 AM


  • बुशफायर और ग्रासफायर के लिए उत्तरदायी हैं, मानव गतिविधियां और प्राकृतिक कारक
    जंगल

     19-09-2021 12:26 PM


  • कोसी नदी पर बने प्राचीन वियर व् बांधों से हुई रामपुर ज़िले की भूमि अति उपजाऊ
    नगरीकरण- शहर व शक्ति

     18-09-2021 10:15 AM






  • © - 2017 All content on this website, such as text, graphics, logos, button icons, software, images and its selection, arrangement, presentation & overall design, is the property of Indoeuropeans India Pvt. Ltd. and protected by international copyright laws.

    login_user_id