माल्ट मादक पेय का इतिहास तथा इसकी बढती लोकप्रियता

रामपुर

 05-07-2021 10:07 AM
स्वाद- खाद्य का इतिहास

रामपुर शहर अपनी सांस्कृतिक धरोहरों और खानपान इत्यादि के उपलक्ष्य में भारत समेत विश्वभर में प्रसिद्द है। परंतु हाल के कुछ वर्षों में रामपुर का माल्ट मदिरा (Malt liquor) उद्द्योग भी, अन्तराष्ट्रीय बाज़ारों में भी बड़े नाम के तौर पर उभर कर आया है। हमारे शहर की रामपुर डिस्टिलरी (Rampur Distillery) नामक कंपनी द्वारा निर्मित, रामपुर सिग्नेचर रिजर्व इंडियन सिंगल माल्ट व्हिस्की' (Rampur Signature Reserve Indian Single Malt Whisky) कई अंतरराष्ट्रीय पुरस्कारों जैसे सैन फ्रांसिस्को वर्ल्ड स्पिरिट कॉम्पिटिशन, यूएसए में डबल गोल्ड मेडल (San Francisco World Spirits Competition, USA) को भी जीत चुकी है, वहीं इसे दुनिया की शीर्ष 20 व्हिस्की में 5वा स्थान दिया गया है। माल्ट व्हिस्की की लोकप्रियता विशेषतौर पर अंतराष्ट्रीय स्तर पर निरंतर बढ़ती जा रही है। आख़िर इस व्हिस्की में क्या है ऐसा खास? प्रायः बाजारों में आमतौर पर मिलने वाली व्हिस्की का निर्माण आसवन (Distillation) विधि में मिश्रित द्रव के अवयवों को उनके वाष्पन-सक्रियताओं (volatilities) के अन्तर के आधार पर अलग-अलग किया जाता है। प्रक्रिया द्वारा होता है, परन्तु माल्ट व्हिस्की अथवा माल्ट मदिरा को अक्सर जौ, मकई, चावल या डेक्सट्रोज का उपयोग करके किण्वन प्रक्रिया से निर्मित किया जाता है। यह एक प्रकार की उच्च अल्कोहल सामग्री वाली बियर होती है, साथ ही इसमें उक्त पदार्थों के साथ विशेष एंजाइमों का उपयोग भी किया जाता है, जिस कारण इसमें किसी भी औसत बियर की तुलना में अल्कोहल का प्रतिशत अधिक मात्रा में होता है, अल्कोहल के इस उच्च संस्करण को कभी-कभी "उच्च-गुरुत्वाकर्षण" या केवल "एचजी" (Hg) भी कहा जाता है। यह फ्यूज़न अक्सर विलायक-या ईंधन जैसी सुगंध और स्वाद देता है। माल्ट मादक पेय में आमतौर पर मात्रा के हिसाब से 6% से 9% अल्कोहल तक होती है। "माल्ट मदिरा" शब्द को सर्वप्रथम 1690 के इंग्लैंड में एक सामान्य शब्द के रूप में दर्ज किया गया, जिसमें बीयर और शराब दोनों शामिल हैं। उत्तरी अमेरिका में इस शब्द का सबसे पहला उल्लेख कनाडा सरकार द्वारा 6 जुलाई, 1842 को जारी एक पेटेंट में दिखाई देता है।
अमेरिका में माल्ट शराब उद्पादकों में Colt 45, St. Ides, Schlitz, Mickey's, Steel Reserve, King Cobra और Olde English 800 आदि प्रमुख हैं, हालांकि यह पेय स्वयं इन उत्पादों से अधिक पुराना है। अमेरिका में पहला व्यापक रूप से सफल माल्ट शराब ब्रांड, कंट्री क्लब (country club) था, जिसका निर्माण 1950 के दशक की शुरुआत में सेंट जोसेफ, मिसौरी में एम. के. गोएट्ज़ ब्रूइंग (Goetz Brewing) कंपनी द्वारा किया गया था। अपने निर्माण के साथ ही यह लोकप्रियता के नए शिखरों को छूने लगी, अमेरिका सहित अन्य पश्चिमी देशों में यह बेहद लोकप्रिय हुई। इसके प्रचार-प्रसार में सबसे बड़ा योगदान पश्चिमी संगीत और कलाकारों का रहा। डीजे पूह (DJ Pooh) , ई-स्विफ्ट (E-Swift) और स्नूप डॉग (Snoop Dogg) जैसे जनप्रिय कलाकारों द्वारा, अपने संगीत में इसका उपयोग किये जाने के परिणाम स्वरूप इसने, कलाकारों के उद्पादों की बिक्री में 25% की वृद्धि की। संयोग से माल्ट शराब ने सेंट आइड्स (St. Ide' s सेंट आइड्स पाब्स्ट ब्रूइंग कंपनी द्वारा निर्मित (Pabst Brewing Company) एक माल्ट शराब है; इस पेय में मात्रा के हिसाब से 8.2% अल्कोहल होता है, जो कई उच्च-अल्कोहल माल्ट शराब से अधिक मज़बूत होता है।) को श्वेत कॉलेज के छात्रों के बीच सर्वाधिक पसंद की जाने वाली माल्ट मदिरा बना दिया। हमारे देश में व्हिस्की की शुरुआत उन्नीसवीं सदी में ब्रिटिश राज के दौरान हुई थी, तथा पहली मदिरा भट्टी 1820 के दशक के अंत में हिमांचल प्रदेश के कसौली में स्थापित की गई थी। जिसे शीघ्र ही सोलन (ब्रिटिश ग्रीष्मकालीन राजधानी शिमला के करीब) में स्थानांतरित कर दिया गया था, क्योंकि वहाँ ताजे पानी की पपर्याप्त आपूर्ति थी। कसौली ब्रेवरी साइट को भारत की पहली डिस्टिलरी निर्माण के लिए उपयोग किया जाने लगा, जो वर्तमान में मोहन मीकिन (Mohan Meakin) द्वारा संचालित की जाती है।
भारत में शराब के निर्माण के लिए अनाज का उपयोग करने की अनुमति देना एक विवादास्पद विषय है, क्यों की अनाज की कमी से शराब का उत्पादन बाधित हुआ। साथ ही उस दौर में देश में ग़रीबी भी अपने चरम पर थी। भारत में माल्टेड अनाज से सर्वप्रथम व्हिस्की का निर्माण 1982 में अमृत डिस्टिलरीज (Amrit Distilleries) द्वारा किया गया था, जिसने हरियाणा, पंजाब और राजस्थान में किसानों से गुड़ के अलावा जौ की खरीद शुरू की। भारत दुनिया में व्हिस्की का सबसे बड़ा उपभोक्ता है, बावजूद इसके कि भारत के कुछ राज्यों में शराब की बिक्री भी प्रतिबंधित है। भारत में निर्मित व्हिस्की की अंतराष्ट्रीय शराब बाज़ार हिस्सेदारी करीब 60 फीसदी है।

संदर्भ
https://bit.ly/3xl7CBQ
https://bit.ly/3xuHTXL
https://bit.ly/3wlkAOu
https://bit.ly/3xmwmJO
https://bit.ly/3AnmbXv

चित्र संदर्भ
1. माल्ट मदिरा विज्ञापन का एक चित्रण (flickr)
2. शराब बनाने की तकनीक में चयनित माध्यमिक स्टार्च फसलों के प्रभावी उपयोग द्वारा माल्ट का आंशिक प्रतिस्थापन दर्शाता एक चित्रण (Science Publishing Group)
3. भारत में व्हिस्की उद्द्योग के अवलोकन का एक चित्रण (6wresearch)



RECENT POST

  • फसल को हाथियों से बचाने के लिए, कमाल के जुगाड़ और परियोजनाएं
    निवास स्थान

     25-06-2022 09:46 AM


  • क्यों आवश्यक है खाद्य सामग्री में पोषण मूल्यों और खाद्य एलर्जी को सूचीबद्ध करना?
    स्वाद- खाद्य का इतिहास

     24-06-2022 09:47 AM


  • ओपेरा गायन, जो नाटक, शब्द, क्रिया व् संगीत के माध्यम से एक शानदार कहानी प्रस्तुत करती है
    ध्वनि 1- स्पन्दन से ध्वनि

     23-06-2022 09:28 AM


  • जीवन जीने के आदर्श सूत्र हैं , महर्षि पतंजलि के अष्टांग योगसूत्र
    य़ातायात और व्यायाम व व्यायामशाला

     22-06-2022 10:18 AM


  • कहीं आपके घर के बाहर ही तो नहीं है लाखों रुपयों के ये कीड़े
    तितलियाँ व कीड़े

     21-06-2022 09:42 AM


  • क्या सनसनीखेज खबरों का हमारे समाज से अब जा पाना मुश्किल हो चुका है?
    संचार एवं संचार यन्त्र

     20-06-2022 08:45 AM


  • नेवले और गिलहरी के केप कोबरा के साथ संघर्ष को दिखाता वीडियो
    व्यवहारिक

     19-06-2022 12:12 PM


  • जानलेवा हो सकते हैं जहरीले मशरूम, कैसे करें इनकी पहचान?
    फंफूद, कुकुरमुत्ता

     18-06-2022 10:10 AM


  • बौद्ध धर्म में पक्षियों से ली गई शिक्षाएं, जीवात्मा की कई बारीकियों को उजागर करती है
    पंछीयाँ

     17-06-2022 08:07 AM


  • बौद्ध धर्म के सबसे पवित्र तीर्थ स्थलों में, बोधगया क्यों है, सबसे महत्वपूर्ण ?
    विचार I - धर्म (मिथक / अनुष्ठान)

     16-06-2022 08:45 AM






  • © - 2017 All content on this website, such as text, graphics, logos, button icons, software, images and its selection, arrangement, presentation & overall design, is the property of Indoeuropeans India Pvt. Ltd. and protected by international copyright laws.

    login_user_id