विश्व प्रसिद्ध शराब के निर्माता कोरोना काल में कर रहे हैं हैंड सैनिटाइजर का उत्‍पादन

रामपुर

 20-10-2020 08:35 AM
स्वाद- खाद्य का इतिहास

कोरोना काल में संक्रमण से बचने के लिए मास्क का इस्तेमाल, सोशल डिस्टेंसिंग (Social Distancing) और बार-बार हाथ धोने की सलाह दी जा रही है, हैंड सैनिटाइजर (Hand Sanitizer) से हाथ धोने से संक्रमण का खतरा काफी हद तक कम हो जाता है। इसलिये बाजार में हैंड सैनिटाइजर की मांग भी बढ़ गई थी और यह मांग एक समय में इतनी ज्यादा थी कि बजारों में हैंड सैनिटाइजर मिलना तक मुश्किल हो गया था। विश्व स्वास्थ्य संगठन समेत दुनियाभर की स्वास्थ्य एजेंसियों का यह मानना है कि एल्कोहल वाले हैंड सैनिटाइजर के इस्तेमाल से कोरोना वायरस को फैलने से रोका जा सकता है, और इसलिये कोरोना काल में अचानक से बाजार में हैंड सैनिटाइजर के हजारों ब्रांड आ गए हैं। इस बीच रामपुर डिस्टलरी (Distillery) ने भी भारत में सरकारी अस्पतालों, फार्मेसियों और किराने की दुकानों के लिए स्थायी आधार पर 80% एल्कोहल हैंड सैनिटाइज़र का उत्पादन शुरू किया है। यहां के अध्यक्ष संजीव बंगा का कहना है कि “एशिया में सबसे बड़े शराब निर्माता में से एक के रूप में, हम कोविड-19 महामारी के खिलाफ लड़ाई में भारत में केंद्र और राज्य सरकारों के प्रयासों का समर्थन करते हुए बहुत गर्व महसूस कर रहे हैं।“
रामपुर डिस्टिलरी भारत की चौथी सबसे बड़ी शराब कंपनी है, जिसका वर्तमान नाम रेडिको खेतान लिमिटेड (Radico Khaitan Ltd.) है। यह एक भारतीय कंपनी है, जो औद्योगिक शराब, विदेशी शराब, देशी शराब और उर्वरक के लिए जानी जाती है। यह कम्पनी दुनिया भर के 60 से अधिक देशों में अपने उत्पादों को बेचती है, जिसमें अमेरिका, कनाडा, दक्षिण अमेरिका, अफ्रीका, यूरोप, दक्षिण पूर्व एशिया आदि शामिल हैं। रेडिको खेतान लिमिटेड को रामपुर डिस्टिलरी एंड केमिकल कंपनी लिमिटेड (Rampur Distillery and Chemical Company Limited) के रूप में 1943 में रामपुर, उत्तर प्रदेश में स्थापित किया गया था। यहां शुरूआत में अतिरिक्त उदासीन एल्कोहल (ENA) का उत्पादन किया जाता था और कई शराब कंपनियों जैसे शॉ वालेस (Shaw Wallace) और यूनाइटेड ब्रेवरीज ग्रुप (United Breweries Group) के लिए शराब थोक के भाव में बेची जाती थी। इसने 1979 में ₹ 6.5 मिलियन का कारोबार किया था। परन्तु सन 1999 से इस कंपनी ने अपने खुद के ब्रांड (Brand) की शुरुआत की।
1972 में ललित खेतान (कंपनी के अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक) के पिता जी.एन. खेतान ने इस कंपनी को विष्णु हरि डालमिया से 1.6 करोड में खरीदा था। फिर जी.एन. खेतान ने अपने 4 बेटों के बीच पारिवारिक व्यवसाय को विभाजित किया और ललित खेतान को इस कंपनी को विरासत में दिया। 1991 में, रेडिको ने 460 KL प्रति वर्ष की क्षमता के साथ माल्ट लिकर प्लांट (Malt Liqour Plant) स्थापित किया। कंपनी ने नए कॉपर डिस्टिलेशन प्लांट (Copper Distillation Plant) और स्वचालित बॉटलिंग लाइन स्थापित करके इसका आधुनिकीकरण भी किया। इसने अपने सिंगल सुपरफॉस्फेट (SSP) प्लांट को बॉल मिल (Ball ill) और स्क्रबिंग सिस्टम (scrubbing system) जैसे उपकरण लगाकर संतुलित किया और अपनी क्षमता बढ़ाया। 1994 में रेडिको खेतान ने अपनी क्षमता बढ़ाने के लिए अपने संयंत्र में विस्तार किया और 1995 में कोंटेसा रम (Contessa Rum), कोंटेसा व्हिस्की (Contessa Whiskey) और सी.एम.आई (CMI) जैसे कुछ अन्य उत्पादों को लॉन्च किया। 2003 में रेडिको ने एक अन्तराष्ट्रीय प्रभाग बनाया, जिसने बियर और वाइन (Beer and Wine) ब्रांड (Brand) पेश किये। यह कंपनी आधी सदी से भी अधिक समय से व्हिस्की बना रही है, और 1990 में इसने एल्कोहल मिश्रणों के लिए माल्टेड (Malted) जौ का उत्पादन शुरू कर दिया था। लेकिन निर्यात के लिए इसने अपना पहला एकल माल्ट (Malt) 2016 में लॉन्च किया था। हाल में ही रेडिको खेतान ने रामपुर के नाम से रामपुर इंडियन सिंगल माल्ट व्हिस्की (Rampur Indian Single Malt Whiskey) का एक सुपर लग्जरी वेरिएंट (Super Luxury Variant) इंटरनेशनल मार्केट में लॉन्च किया। आज यह ब्रांड पूरी दुनिया में बिकता है। यह एक मात्र ऐसी भारतीय ब्रांड है, जो कि पूरे विश्व में अत्यधिक मशहूर है। इसको कोहिनूर के नाम से भी जाना जाता है। रामपुर इंडियन सिंगल माल्ट व्हिस्की रामपुर की डिस्टलरी से निकलने वाली अत्यंत ही बढ़िया किस्म की सिंगल माल्ट शराब है। आज यह अमेरिका, कनाडा, ब्रिटेन, जर्मनी, यूएई, हांगकांग, न्यूजीलैंड, घाना, आदि सहित एक दर्जन से अधिक देशों में बिकती है। यह दुनिया की सबसे बेहतरीन शराबों में से एक है। इसकी पैकेजिंग में देवनागरी लिपि का सूक्ष्म उपयोग किया गया है, जो इसे एक विशिष्ट भारतीय पहचान देता है। रामपुर सिंगल माल्ट का स्वाद अलग मसालेदार है, लेकिन यह अत्यंत ही संतुलित है, जो पीने वाले को एक अलग ही एहसास देने का कार्य करती है। इस शराब में स्वाद का ख़ासा अच्छा ख़याल रखा जाता है, जिसके लिये इसे एक लम्बे समय के लिये भारतीय मौसम में रखा जाता है, जो इसे एक अलग ही पहचान देने का कार्य करती है। इसके बाद इसे अपने जीवन के 2/3 समय के लिये अमेरिकी ओक बॉर्बन कास्क (American Oak Bourbon Casks) में और 1/3 समय के लिये यूरोपीय ओक शेरी ओलासो कास्क (European Oak Sherry Oloroso Casks) में रखा जाता है। इसके अलावा इसमें बेलेसमिक वेनिला (Balsamic Vanilla), मसाले और सूखे फल आदि भी डाले जाते हैं। इस प्रकार हम देख सकते हैं की रामपुर की यह शराब भारत को पूरे विश्व भर में प्रसिद्ध करने का कार्य कर रही है और उपभोक्ताओं के दिलों में अपनी एक अलग छाप छोड़ रही है। हाल ही में द व्हिस्की शो, लंदन और व्हिस्की लाइव, पेरिस (The Whiskey Show, London and Whiskey Live, Paris) में रामपुर डिस्टिलरी के 75 साल पूरे होने के उपलक्ष्य में रामपुर इंडियन सिंगल माल व्हिस्की (Rampur Indian Single Malt Whisky) को एक सुपर लक्जरी उत्पाद 'रामपुर सिग्नेचर रिजर्व इंडियन सिंगल माल्ट व्हिस्की' (Rampur Signature Reserve Indian Single Malt Whisky) लॉन्च किया गया था। यह दुनिया भर में 400 बोतलों की एक सीमित उप्ताद है। इस व्हिस्की ने अंतरराष्ट्रीय पुरस्कारों को जीता है, जिसमें सैन फ्रांसिस्को विश्व स्प्रिट प्रतियोगिता में डबल गोल्ड मेडल शामिल हैं। इसके अलावा यह दुनिया के शीर्ष 20 व्हिस्की में से 5 नम्बर पर है। इसके अलावा रामपुर डिस्टिलरी में रामपुर शैरी पीएक्स फिनिश इंडियन सिंगल माल्ट व्हिस्की (Rampur Sherry PX Finish Indian Single Malt Whisky), रामपुर डबल कास्क इंडियन सिंगल माल्ट व्हिस्की (Rampur Double Cask Indian Single Malt Whisky) आदि का भी उत्पादन किया जाता है, जो कि रामपुर के नाम से अंतर्राष्ट्रीय बाजारों में बिकती है।

संदर्भ:
https://www.firstpost.com/living/how-the-rampur-indian-single-malt-came-to-be-known-as-another-kohinoor-from-india-3845685.html
https://bit.ly/2XPfIUp
https://en.wikipedia.org/wiki/Radico_Khaitan
https://www.thewhiskyexchange.com/p/34291/rampur-select
https://www.dfnionline.com/csr/rampur-distillery-produce-hand-sanitiser-india-25-03-2020/
चित्र सन्दर्भ:
पहली छवि रामपुर डिस्टिलरी ।(youtube)
रामपुर डिस्टिलरी सैनिटाइजर बनाने की प्रक्रिया(youtube)
रामपुर डिस्टिलरी सैनिटाइजर बनाने की प्रक्रिया(youtube)


RECENT POST

  • नवपाषाण काल में पत्‍थरों के औजारों का उपयोग
    ठहरावः 2000 ईसापूर्व से 600 ईसापूर्व तक

     01-12-2020 12:25 PM


  • विश्व के सभी खट्टे फलों का जन्मस्थल हिमालय है
    साग-सब्जियाँ

     30-11-2020 09:14 AM


  • दृश्यों की संवेदनशील प्रकृति के कारण भिन्न हैं, मोचे संस्कृति द्वारा बनाए गये मिट्टी के बर्तन
    द्रिश्य 3 कला व सौन्दर्य

     29-11-2020 06:58 PM


  • उत्तम प्रकृति चंदन को संरक्षण की दरकार
    पेड़, झाड़ियाँ, बेल व लतायें

     28-11-2020 09:00 AM


  • आदिकाल से ही मानव कर रहा है, इत्र का उपयोग
    गंध- ख़ुशबू व इत्र

     27-11-2020 12:18 PM


  • क्यों गुप्तकाल को भगवान विष्णु मूर्तिकला का उत्कृष्ट काल माना जाता है?
    द्रिश्य 3 कला व सौन्दर्य

     26-11-2020 08:48 AM


  • अपनी कला के माध्यम से कर रहे हैं सड़क प्रदर्शनकर्ता लोगों को जागरूक
    द्रिश्य 2- अभिनय कला

     25-11-2020 10:10 AM


  • इस्लामिक ग्रंथों में मिलता है दुनिया के अंत या क़यामत का वर्णन
    विचार I - धर्म (मिथक / अनुष्ठान)

     24-11-2020 07:16 AM


  • रेडियो दूरबीनों के अंतर्राष्ट्रीय तंत्र की ऐतिहासिक उपलब्धि है, ईवेंट होरिजन टेलीस्कोप
    द्रिश्य 1 लेंस/तस्वीर उतारना

     22-11-2020 10:08 AM


  • इंडो-सरसेनिक (Indo-Saracenic) कला के अद्वितीय नमूने रामपुर कोतवाली और नवाब प्रवेशमार्ग
    वास्तुकला 1 वाह्य भवन

     22-11-2020 08:02 PM






  • © - 2017 All content on this website, such as text, graphics, logos, button icons, software, images and its selection, arrangement, presentation & overall design, is the property of Indoeuropeans India Pvt. Ltd. and protected by international copyright laws.

    login_user_id