आत्मनिर्भर शहर: परी कथा और काल्पनिक साहित्य की देन

रामपुर

 08-09-2020 04:16 AM
नगरीकरण- शहर व शक्ति

शहरीकरण पर पूरा ध्यान केंद्रित करने की वजह से अक्सर हम इससे पैदा होने वाले बुरे नतीजों की तरफ ध्यान नहीं दे पाते, जैसे कि अस्थिर पारिस्थिकी। आर्कोलॉजी (Arcology) शब्द आर्कियोलॉजी (Archeology) और इकोलॉजी (Ecology) के मिश्रण से बना है। इसका इस्तेमाल घने बसे निम्न पारिस्थितिकी वाले इलाकों के लिए उपयुक्त वास्तु तैयार करने में होता है। इस शब्द की शुरुआत 1969 में वास्तु शास्त्री पाओलो सोलेरी (Paolo Soleri) ने की थी। वे मानते थे कि एक संपूर्ण आर्कोलॉजी के जरिए ही अलग-अलग तरह के रिहायशी, व्यवसायिक और कृषि संबंधी ऐसे निर्माण किए जा सकते हैं, जो इंसान के पर्यावरण पर दुष्प्रभाव को कम करने में भी मददगार होंगे। यह निर्माण पूरी तरह काल्पनिक थे और आज तक कोई आर्कोलॉजी निर्माण नहीं हो सका है। यह संकल्पना विज्ञान साहित्य लिखने वालों ने खूब प्रचलित की। आर्कोलॉजी इमारतें यदि बनती तो उनमें सभी मूलभूत सुविधाएं होती। वह अपनी ऊर्जा स्वयं पैदा करते, अपना भोजन स्वयं उगाते, हवा पानी की शुद्धता बरकरार रखते और कूड़ा निस्तारण की पूरी व्यवस्था रखी जाती। इन इमारतों में कार नहीं होती, जिससे प्रदूषण और कार्बन उत्सर्जन घट जाते हैं।
यह कोई नहीं जानता कि भविष्य में स्थापत्य का क्या स्वरूप होगा, लेकिन संयुक्त राष्ट्र संघ (United Nations Organisation) के अनुमान के अनुसार 2050 तक हमारे ग्रह पर 9.7 बिलियन लोग रह रहे होंगे। फिलहाल तो हम इंतजार ही करेंगे कि स्थापत्य कैसे इस चुनौती का सामना करेगा।

1970 में न्यूयॉर्क सिटी (Newyork City) के भावी अंधेरे स्वरूप को सामने लाने के लिए कई कॉमिक (Comic) चरित्रों की रचना हुई। उस समय की दूसरी कथाओं से अलग पीच ट्री (Peach Tree) कथा में स्वयं में एक बड़ा शहर था, जिसमें काफी बड़ी इमारत थी। आर्कोलॉजीकल (Arcological) परिकल्पनाएं फ्रैंक लॉयड राइट (Frank Lloyd Wright) के ब्रॉडएकर सिटी (Broadacre City) और बकमिंस्टर फुलर (Buckminster Fuller) के प्रस्तावित ओल्ड मैन रिवर सिटी परियोजना (Old Man River City Project) में देखे जा सकते हैं।

सन्दर्भ:
https://en.wikipedia.org/wiki/Arcology
https://codinaarchitectural.com/arcology-architecture-and-ecology/
https://www.wired.co.uk/article/paolo-soleri-arcologies
https://99percentinvisible.org/article/self-contained-cities-hyperdense-arcologies-urban-fiction-utopian-fantasy/
चित्र सन्दर्भ
मुख्य चित्र में NOAH (न्यू ओरलेंस आर्कोलॉजी हैबिटैट) को दिखाया गया है। (Wikimedia)
दूसरे चित्र में इस्टल कार्डिनल आर्कोलॉजी (Ixtal Cardinal Arcology) को दिखाया गया है। (Artstation/Youtube)
अंतिम चित्र में एक काल्पनिक आर्कोलॉजी को दिखाया गया है। (freepixel)



RECENT POST

  • मुरादाबाद के मेस्टन निवास रामपुर के मेस्टन गंज और कानपुर के मेस्टन रोड के नामकरण के पीछे की कहानी
    घर- आन्तरिक साज सज्जा, कुर्सियाँ तथा दरियाँ वास्तुकला 1 वाह्य भवन

     14-05-2021 09:46 PM


  • ईद अल फितर और ईद अल अधा की नमाज के लिए आरक्षित होते हैं ईदगाह
    विचार I - धर्म (मिथक / अनुष्ठान)

     14-05-2021 09:51 AM


  • लाल चीटियों द्वारा दासता का विकास कैसे हुआ और लाल चींटी को लोग क्यों खाना पसंद करते है
    तितलियाँ व कीड़ेव्यवहारिक

     13-05-2021 05:33 PM


  • स्वर्ण अनुपात – हमारे जीवन से संबंधित एक गणितीय अनुपात
    वास्तुकला 1 वाह्य भवन सिद्धान्त 2 व्यक्ति की पहचान

     12-05-2021 09:21 AM


  • 1,000% तक की अधिक कीमतों में बेचा जा रहा ऑक्सीजन सिलिंडर, जाने क्या हैं भारत में मूल्य निर्धारण के कुछ प्रमुख कानून?
    विचार 2 दर्शनशास्त्र, गणित व दवासंचार एवं संचार यन्त्र

     10-05-2021 09:48 PM


  • बहुमुखी गुणों का धनी महुआ का वृक्ष
    जंगलपेड़, झाड़ियाँ, बेल व लतायें बागवानी के पौधे (बागान)साग-सब्जियाँ

     10-05-2021 09:02 AM


  • गहरी भावनाओं को जाग्रत करती है, संवाद रहित शॉर्ट फिल्म “अम्ब्रेला”
    विचार 2 दर्शनशास्त्र, गणित व दवा

     09-05-2021 11:57 AM


  • कोरोना महामारी का सामना करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहा है, इंटरनेशनल रेड क्रॉस और रेड क्रिसेंट आंदोलन
    विचार 2 दर्शनशास्त्र, गणित व दवावास्तुकला 2 कार्यालय व कार्यप्रणाली

     08-05-2021 09:03 AM


  • रबीन्द्रनाथ टैगोर ने किस पारंपरिक शिक्षा प्रणाली को बदलकर रख दिया और क्यों तेजी से बढ़ रहा है गृहस्थ शिक्षा (Homeschooling) का प्रचलन।
    द्रिश्य 2- अभिनय कला विचार I - धर्म (मिथक / अनुष्ठान)विचार 2 दर्शनशास्त्र, गणित व दवा

     07-05-2021 11:30 AM


  • प्राचीन नाट्यशास्त्र के दो प्रमुख अंग: रस तथा भाव
    ध्वनि 1- स्पन्दन से ध्वनि

     06-05-2021 09:28 AM






  • © - 2017 All content on this website, such as text, graphics, logos, button icons, software, images and its selection, arrangement, presentation & overall design, is the property of Indoeuropeans India Pvt. Ltd. and protected by international copyright laws.

    login_user_id