हास्य कविता - लेखन कला का एक प्रमुख भाग

रामपुर

 30-06-2019 11:30 AM
द्रिश्य 2- अभिनय कला

हास्य कविता में शब्दों द्वारा किसी के पहनावे, हाव-भाव, शारीरिक बनावट इत्यादि पर ध्यान केंद्रित करते हुए मन में हास्य रस (भाव ) उत्पन्न किया जाता है। हिन्दी में हास्य के प्रचलित कवियों में काका हाथरसी, अशोक चक्रधर, हुल्लड़ मुरादाबादी प्रसिद्ध हैं।



सन्दर्भ:-
1. https://www.youtube.com/watch?v=OATEmWxyvYo
2. https://www.youtube.com/watch?v=HkZKM5GmX48
3. https://www.youtube.com/watch?v=bg7qtSZHo4A



RECENT POST

  • आज आपके सोलर ऊर्जा के उत्पादन से जुड़े सभी संदेह दूर हो जाएंगे
    नगरीकरण- शहर व शक्ति

     26-11-2022 10:58 AM


  • भारतीय और अफ्रीकी पशुपालक एक दूसरे से क्या सीख सकते हैं
    भूमि प्रकार (खेतिहर व बंजर)

     25-11-2022 10:52 AM


  • अपने बचपन के सपनों को हासिल करने के लिए क्या आवश्यक है, पढ़ें इस पुस्तक में
    विचार 2 दर्शनशास्त्र, गणित व दवा

     24-11-2022 11:11 AM


  • परफ्यूम और डिओडोरेंट में अंतर के साथ समझिये इनकी विशेषताएं तथा दुष्परिणाम
    गंध- ख़ुशबू व इत्र

     23-11-2022 10:52 AM


  • प्राकृतिक सशस्त्र बल हैं भारत के मैंग्रोव
    जंगल

     22-11-2022 10:50 AM


  • शिक्षा व् सामुदायिक विकास की पहल से, अब मनोरंजन का विस्फोट लिए, कैसे बसा टीवी घर-घर मे परिवार के सदस्य के जैसे
    संचार एवं संचार यन्त्र

     21-11-2022 10:39 AM


  • अंतरिक्ष में कपड़े धोना भी अपने आप में एक मजेदार काम है
    विचार 2 दर्शनशास्त्र, गणित व दवा

     20-11-2022 12:59 PM


  • दस साल में एक बार खिलने वाला विश्‍व का सबसे बड़ा फूल
    शारीरिक

     19-11-2022 11:12 AM


  • राष्ट्रवाद बनाम वैश्विकवाद
    सिद्धान्त 2 व्यक्ति की पहचान

     18-11-2022 11:04 AM


  • मरुस्थलीकरण क्यों डरा रहा है?
    मरुस्थल

     17-11-2022 11:51 AM






  • © - , graphics, logos, button icons, software, images and its selection, arrangement, presentation & overall design, is the property of Indoeuropeans India Pvt. Ltd. and protected by international copyright laws.

    login_user_id