रामपुर के राजस्थानी सम्बन्ध

रामपुर

 03-05-2018 03:34 PM
नगरीकरण- शहर व शक्ति

रामपुर शहर का नाम रामपुरिया शब्द से अत्यंत जुड़ा हुआ दिखाई देता है। वर्तमान में हम लोगों को उनके निवास स्थान के रूप में बुलाते हैं जैसे कानपुरिया (कानपुर), जौनपुरिया (जौनपुर), जैपुरिया (जयपुर) आदि। रामपुरिया नाम का एक स्थान बीकानेर शहर में है। यह एक 15वीं शताब्दी में बना स्थान है जिसे कि रामपुरिया परिवार से जोड़ कर देखा जा सकता है। यहाँ पर लाल बलुए पत्थर की इमारतें बनायी गयीं है जो किसी को भी अपनी तरफ आकर्षित कर लेती हैं। अंग्रेजी लेखक एल्डस हक्सले लिखते हैं कि रामपुरिया हवेली "बीकानेर का गौरव" है।

15 वीं शताब्दी के दौरान बलूजी चाल्वा द्वारा रामपुरिया हवेली का निर्माण किया गया था, जिसे शाही व्यापारी और रामपुरिया के शाही और सुरुचिपूर्ण मकान बनाने का आदेश दिया गया था। हवेली का निर्माण डुलमेरा लाल बलुआ पत्थर के साथ महत्वपूर्ण आधार सामग्री के रूप में किया गया है जो उस युग के दौरान प्रचलित खूबसूरत वास्तु क्षमताओं को प्रदर्शित करता है। यहाँ समृद्ध और भव्य आंतरिक बरामदा और कमरा आदि सजाया गया है जो उत्तम सौंदर्य कला को प्रदर्शित करता है। यहाँ पर प्रथम श्रेणी के परिदृश्य और चित्र कलाकृतियों को लकड़ी से बनाया गया है जो रामपुरिया हवेली के प्रमुख और उल्लेखनीय आकर्षणों में से कुछ हैं। न केवल मुगल और विक्टोरियन वास्तुकला का निर्बाध संलयन, बल्कि रामपुरिया हवेली में राजपुताना वास्तुकला का भी प्रयोग वास्तव में प्रेरणादायक और शानदार है। भंवर निवास निश्चित रूप से रामपुरिया हवेली के अतिरंजित रूप से शानदार जोड़ों में से एक है। 1920 के दशक के दौरान निर्मित, भंवरलालजी रामपुरिया जो कपड़ा व्यापारी थे ने 1920 के दशक के दौरान प्रचलित शैली और वास्तुकला को शामिल किया। भंवर निवास अब पर्यटकों के लिए एक लोकप्रिय होटल के रूप में स्थापित किया गया है। इसमें बीस अतिथि कमरे हैं जो अद्वितीय और दूसरों से अलग हैं।

जैसा कि रामपुरिया शब्द का आशय है तो यह कहा जा सकता है कि यहाँ पर शायद रोहिलखंड से ही कोई व्यापारी परिवार आया होगा, यह एक अतिश्योक्ति मात्र है परन्तु यह सत्य के बहुत समीचीन है। जैसा कि 15वीं शताब्दी में रामपुर का इतिहास नहीं था परन्तु यह भी कहा जा सकता है कि 15 वीं शताब्दी की तिथि गलत हो जैसा कि यहाँ पर व्याप्त ज्यादातर इमारतें 1920 के दौर की हैं। यह कथन इस ओर इशारा करता है कि रामपुर और रामपुरिया में अत्यंत गहरा सम्बन्ध है।

1.https://www.tourmyindia.com/states/rajasthan/rampuria-haveli-bikaner.html
2.http://www.naina.co/2017/04/merchants-trail-rampuria-havelis-bikaner-nainaxnarendrabhawan/
3.http://www.enidhi.net/2017/07/the-grand-rampuria-havelis-of-bikaner.html



RECENT POST

  • मुरादाबाद के मेस्टन निवास रामपुर के मेस्टन गंज और कानपुर के मेस्टन रोड के नामकरण के पीछे की कहानी
    घर- आन्तरिक साज सज्जा, कुर्सियाँ तथा दरियाँ वास्तुकला 1 वाह्य भवन

     14-05-2021 09:46 PM


  • ईद अल फितर और ईद अल अधा की नमाज के लिए आरक्षित होते हैं ईदगाह
    विचार I - धर्म (मिथक / अनुष्ठान)

     14-05-2021 09:51 AM


  • लाल चीटियों द्वारा दासता का विकास कैसे हुआ और लाल चींटी को लोग क्यों खाना पसंद करते है
    तितलियाँ व कीड़ेव्यवहारिक

     13-05-2021 05:33 PM


  • स्वर्ण अनुपात – हमारे जीवन से संबंधित एक गणितीय अनुपात
    वास्तुकला 1 वाह्य भवन सिद्धान्त 2 व्यक्ति की पहचान

     12-05-2021 09:21 AM


  • 1,000% तक की अधिक कीमतों में बेचा जा रहा ऑक्सीजन सिलिंडर, जाने क्या हैं भारत में मूल्य निर्धारण के कुछ प्रमुख कानून?
    विचार 2 दर्शनशास्त्र, गणित व दवासंचार एवं संचार यन्त्र

     10-05-2021 09:48 PM


  • बहुमुखी गुणों का धनी महुआ का वृक्ष
    जंगलपेड़, झाड़ियाँ, बेल व लतायें बागवानी के पौधे (बागान)साग-सब्जियाँ

     10-05-2021 09:02 AM


  • गहरी भावनाओं को जाग्रत करती है, संवाद रहित शॉर्ट फिल्म “अम्ब्रेला”
    विचार 2 दर्शनशास्त्र, गणित व दवा

     09-05-2021 11:57 AM


  • कोरोना महामारी का सामना करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहा है, इंटरनेशनल रेड क्रॉस और रेड क्रिसेंट आंदोलन
    विचार 2 दर्शनशास्त्र, गणित व दवावास्तुकला 2 कार्यालय व कार्यप्रणाली

     08-05-2021 09:03 AM


  • रबीन्द्रनाथ टैगोर ने किस पारंपरिक शिक्षा प्रणाली को बदलकर रख दिया और क्यों तेजी से बढ़ रहा है गृहस्थ शिक्षा (Homeschooling) का प्रचलन।
    द्रिश्य 2- अभिनय कला विचार I - धर्म (मिथक / अनुष्ठान)विचार 2 दर्शनशास्त्र, गणित व दवा

     07-05-2021 11:30 AM


  • प्राचीन नाट्यशास्त्र के दो प्रमुख अंग: रस तथा भाव
    ध्वनि 1- स्पन्दन से ध्वनि

     06-05-2021 09:28 AM






  • © - 2017 All content on this website, such as text, graphics, logos, button icons, software, images and its selection, arrangement, presentation & overall design, is the property of Indoeuropeans India Pvt. Ltd. and protected by international copyright laws.

    login_user_id