Post Viewership from Post Date to 22-Mar-2024 (31st Day)
City Subscribers (FB+App) Website (Direct+Google) Email Instagram Total
1829 180 2009

***Scroll down to the bottom of the page for above post viewership metric definitions

उत्तर प्रदेश में बन रहा भारत का सबसे बड़ा मेडिकल डिवाइस पार्क जानें क्या होगी खासियत

रामपुर

 20-02-2024 09:31 AM
आधुनिक राज्य: 1947 से अब तक

आज हमारा देश भारत तीव्र गति से विकास कर रहा है और हमारी अर्थव्यवस्था सबसे मजबूत उभरती अर्थव्यवस्थाओं में से एक है। इसका एक प्रमुख कारण देश के विभिन्न उद्योग एवं व्यापार हैं। औषधीय (Pharmaceutical) और जैव प्रौद्योगिकी (Biotech) क्षेत्र में भी हमारे देश भारत का वैश्विक स्तर पर एक अहम स्थान है। इसके अलावा देश के होनहार वैज्ञानिक और इंजीनियर इस क्षेत्र को दिन प्रति दिन और भी अधिक ऊंचाइयों तक ले जा रहे हैं। यह पहचानते हुए कि यह उद्योग एक उभरता हुआ क्षेत्र है, जिसमें विविधीकरण और रोजगार सृजन की काफी संभावनाएं हैं, सरकार द्वारा आने वाले वर्षों में चिकित्सा उद्योग को चिकित्सा उपकरण क्षेत्र में मजबूत एवं आत्मनिर्भर बनाने के उद्देश्य से "मेडिकल डिवाइस पार्क" (Medical Device Parks) विकसित करने की एक महत्वपूर्ण पहल शुरू की गई है। इसी पहल के तहत हमारे राज्य उत्तर प्रदेश में जेवर में बनने वाले नोएडा अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे से सिर्फ 3.5 किलोमीटर दूर, यमुना एक्सप्रेसवे पर 350 एकड़ क्षेत्र में एक मेडिकल डिवाइस पार्क बनाया जाएगा। इस पार्क को दो चरणों में यमुना एक्सप्रेसवे औद्योगिक विकास प्राधिकरण (Yamuna Expressway Industrial Development Authority (YEIDA) के सेक्टर 28 में विकसित किया जाएगा। पहले चरण के दौरान पार्क के लिए कुल 350 एकड़ भूमि में से 200 एकड़ भूमि पर और दूसरे चरण में शेष 150 एकड़ भूमि पर विकास कार्य किया जाएगा। केंद्र ने चार राज्यों उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, हिमाचल प्रदेश और तमिलनाडु में चिकित्सा उपकरण पार्क स्थापित करने की मंजूरी दी है। YEIDA के एक अधिकारी के अनुसार, पार्क में निर्मित किए जाने वाले चिकित्सा उपकरणों की सूची काफी व्यापक और विविध है। इन डिवाइस पार्को में सीटी स्कैन (CT scans), एमआरआई (MRI), वेंटिलेटर (ventilators), विकलांग चिकित्सा संबंधी प्रत्यारोपण (orthopedic implants), ऑक्सीजन कंसंट्रेटर (oxygen concentrator), एनेस्थीसिया सुई और किट (anaesthesia needle and kit), एनेस्थीसिया वर्क स्टेशन (anaesthesia work station), मेरुदण्डीय प्रत्यारोपण (spinal implant), एक्स-रे मशीन (X-ray machine), एंडोस्कोपिक (endoscopic), जठरिकी मेडिकल डिवाइस (gastrology medical device), और बाइलरी स्टेंट (biliary stent), जैसे महत्वपूर्ण चिकित्सकीय उपकरणों का औद्योगिक स्तर पर निर्माण किया जाएगा। इसके अलावा मेडिकल डिवाइस पार्क में ट्रॉमा मैनेजमेंट प्रत्यारोपण (Trauma management implant), कोरोनरी स्टेंट (coronary stent), हेमोडायलिसिस किट (hemodialysis kit), हार्ट-लंग बाईपास किट (heart-lung bypass kit), कैंसर केयर उपकरण (cancer care equipment), वीडियो कॉल्पोस्कोपी मशीन (video colposcopic machine), कीमोथेरेपी उपकरण (chemotherapy device), रेडियोलॉजी उपकरण (radiology device), न्यूक्लियर इमेजिंग उपकरण (nuclear imaging device), इंट्राओकुलर लेंस (intraocular lens) आदि उपकरणों का भी निर्माण किया जायेगा। अधिकारियों के अनुसार इस मेडिकल डिवाइस पार्क में 59 कंपनियों को जमीन आवंटित की गई है। आवंटित कंपनियों को आवंटन पत्र भी सौंप दिए गए हैं। इन कंपनियों द्वारा अपना व्यवसाय स्थापित करने के लिए लगभग 415 करोड़ रुपये का निवेश किया जाएगा। इन निवेशों से लगभग 5,000 लोगों के लिए प्रत्यक्ष रोजगार के अवसर भी उत्पन्न होंगे। यहाँ कम बजट में छोटे और मध्यम उद्यमों की मदद के लिए प्राधिकरण द्वारा दो कारखानों के ढांचों का निर्माण भी किया गया है। 'मेडिकल डिवाइस पार्कों को बढ़ावा देने’ (Promotion of Medical Device Parks) की योजना 400 करोड़ रुपये के वित्तीय परिव्यय के साथ चिकित्सा उपकरण उद्योग को समर्थन देने की एक महत्वपूर्ण पहल है। इस योजना का उद्देश्य विनिर्माण लागत को कम करना, संसाधनों का अनुकूलन करना, अर्थव्यवस्था को मजबूत बनाना और मानक परीक्षण और बुनियादी सुविधाओं तक आसान पहुंच प्रदान करना है। इस योजना के तहत हिमाचल प्रदेश, तमिलनाडु, मध्य प्रदेश और उत्तर प्रदेश में मेडिकल डिवाइस पार्क स्थापना के लिए "सैद्धांतिक" मंजूरी दी जा चुकी है। इस क्षेत्र में उचित बुनियादी ढांचे के निर्माण के लिए उच्च स्तर के निवेश की आवश्यकता को पहचाना गया है। जिससे फार्मास्यूटिकल्स विभाग द्वारा "मेडिकल डिवाइस पार्कों को बढ़ावा देने" की योजना को अधिसूचित किया गया है। इस योजना के तहत घरेलू उत्पादन को बढ़ावा देने के लिए, सरकार द्वारा कई अन्य कदम, (जैसे भारतीय सार्वजनिक अस्पतालों को घरेलू स्तर पर उत्पादित उत्पादों को खरीदने के लिए प्रोत्साहित करना), आदि उठाए गए हैं। क्या आप जानते हैं कि भारत का पहला मेडिकल टेक्नोलॉजी पार्क ‘ट्रिविट्रॉन मेडिकल टेक्नोलॉजी पार्क’ (Trivitron Medical Technology Park) 2010 में चेन्नई में बनाया गया था, जिससे देश में अत्याधुनिक तकनीक के उपयोग से अल्ट्रासाउंड मशीनों जैसे महंगे उपकरणों की लागत कम हो गई। 25 एकड़ में फैले और 10 अंतरराष्ट्रीय चिकित्सा प्रौद्योगिकी निर्माताओं को समायोजित करने के लिए डिज़ाइन किए गए, इस पार्क का उद्देश्य चिकित्सा पेशेवरों के लिए किफ़ायती लागत पर अत्याधुनिक चिकित्सा प्रौद्योगिकी उपलब्ध कराना है। यह चिकित्सा उपकरण निर्माताओं के लिए एक स्थैतिक परीक्षण पार्क है। इस पार्क को लगभग 10 चिकित्सा उपकरण निर्माताओं के साथ मिलकर लगभग 250 करोड़ रुपये की लागत से बनाया गया है। ट्रिविट्रॉन समूह द्वारा चिकित्सा उपकरणों के निर्माण के लिए पांच संयुक्त उद्यम स्थापित किए गए। अल्ट्रासाउंड मशीनों (ultrasound machines), हाई एन्ड कलर डॉपलर (high end colour dopplers) और एडवांस्ड इमेजिंग सिस्टम (advanced imaging systems) के निर्माण के लिए पार्क की पहली कंपनी ‘अलोका ट्रिविट्रॉन मेडिकल टेक्नोलॉजीज’ (Aloka Trivitron Medical Technologies) को स्थापित किया गया। इसके अलावा ब्रैंडन मेडिकल यूनाइटेड किंगडम (Brandon Medical, United Kingdom), ईटी कार्डियोलिन, इटली (ET Cardioline, Italy), जॉनसन मेडिकल, स्वीडन (Johnson Medical, Sweden), और बायोसिस्टम्स, स्पेन (Biosystems, Spain), के साथ भी संयुक्त उद्यम स्थापित किए गए। इन सभी उद्यमों द्वारा पार्क में उत्पादों की एक श्रृंखला का निर्माण किया जाता है। इनमें अल्ट्रासाउंड सिस्टम (ultrasound systems), कलर डॉपलर (colour dopplers), एक्स-रे मशीन (X -ray machines), सी-आर्म्स (C-arms), इन-विट्रो डायग्नोस्टिक रिएजेंट और उपकरण (in-vitro diagnostic reagents and instruments), कार्डियोलॉजी डायग्नोस्टिक उपकरण (cardiology diagnostic instruments), क्रिटिकल केयर उपकरण (critical care instruments), मॉड्यूलर ऑपरेटिंग थिएटर (modular operating theatres), ऑपरेटिंग थिएटर लाइट (operating theatre lights) और टेबल और इम्प्लांटेबल मेडिकल डिवाइस (implantable medical devices) शामिल हैं।

संदर्भ
https://t.ly/ACCRU
https://t.ly/z4-Qo
https://t.ly/jckcX
https://t.ly/37xdk

चित्र संदर्भ
1. मेडिकल डिवाइस पार्क को संदर्भित करता एक चित्रण (wikimedia)
2. मेडिकल डिवाइस पार्क लेखन को संदर्भित करता एक चित्रण (प्रारंग चित्र संग्रह)
3. एक चिकित्सा कक्ष को संदर्भित करता एक चित्रण (Wallpaper Flare)
4. उत्तर प्रदेश के लोगो को संदर्भित करता एक चित्रण (wikimedia)
5. ऑपरेशन कक्ष को संदर्भित करता एक चित्रण (Wallpaper Flare)
6. बच्ची की जाँच करती महिला चिकित्सक को संदर्भित करता एक चित्रण (flickr)



***Definitions of the post viewership metrics on top of the page:
A. City Subscribers (FB + App) -This is the Total city-based unique subscribers from the Prarang Hindi FB page and the Prarang App who reached this specific post. Do note that any Prarang subscribers who visited this post from outside (Pin-Code range) the city OR did not login to their Facebook account during this time, are NOT included in this total.
B. Website (Google + Direct) -This is the Total viewership of readers who reached this post directly through their browsers and via Google search.
C. Total Viewership —This is the Sum of all Subscribers(FB+App), Website(Google+Direct), Email and Instagram who reached this Prarang post/page.
D. The Reach (Viewership) on the post is updated either on the 6th day from the day of posting or on the completion ( Day 31 or 32) of One Month from the day of posting. The numbers displayed are indicative of the cumulative count of each metric at the end of 5 DAYS or a FULL MONTH, from the day of Posting to respective hyper-local Prarang subscribers, in the city.

RECENT POST

  • आइए देखें दुनिया के अलग-अलग देशों में ‘विश्व पृथ्वी दिवस’ मनाने के विभिन्न रंग
    जलवायु व ऋतु

     22-04-2024 09:55 AM


  • ये हैं दुनिया के सबसे ख़तरनाक पक्षी, जंगल का राजा शेर भी खाता हैं इनसे ख़ौफ़
    व्यवहारिक

     21-04-2024 09:44 AM


  • भगवान महावीर और प्रभु श्री राम में, क्या अनोखी समानता है?
    विचार I - धर्म (मिथक / अनुष्ठान)

     20-04-2024 09:59 AM


  • क्या प्राचीन भारतीय ब्राह्मी लिपि पर था, यूनानी या ग्रीक लेखन व वर्णमाला का प्रभाव?
    ध्वनि 2- भाषायें

     19-04-2024 09:35 AM


  • विश्व धरोहर दिवस पर जानें, भारत व विश्व के अनूठे धरोहर स्थलों के बारे में
    वास्तुकला 1 वाह्य भवन

     18-04-2024 09:41 AM


  • राम नवमी विशेष: वैश्विक पटल पर प्रभु श्री राम की महिमा कैसे और किन कारणों से फैली?
    विचार I - धर्म (मिथक / अनुष्ठान)

     17-04-2024 09:31 AM


  • प्राचीन ग्रीस, बेबीलोन व अन्य सभ्यताओं में हमारे देश की पहचान बना था हमारा कपास
    स्पर्शः रचना व कपड़े

     16-04-2024 09:27 AM


  • विश्व कला दिवस विशेष: कला की सुंदरता में कैसे चार चाँद लगा देती है, गणित
    द्रिश्य 3 कला व सौन्दर्य

     15-04-2024 09:31 AM


  • शेर या बाघ नहीं बल्कि ये है दुनिया के सबसे खूंखार जानवर, यहां देखें सभी को
    शारीरिक

     14-04-2024 09:13 AM


  • महिला, दलित व वंचितों के प्रति दमनकारी विचारों वाले ग्रंथों को आंबेडकर ने किया अस्वीकार
    सिद्धान्त 2 व्यक्ति की पहचान

     13-04-2024 08:52 AM






  • © - , graphics, logos, button icons, software, images and its selection, arrangement, presentation & overall design, is the property of Indoeuropeans India Pvt. Ltd. and protected by international copyright laws.

    login_user_id