पृथ्वी पर सबसे ऊंची आवाज उत्पादित करने वाला जानवर है, अंटार्कटिक ब्लू व्हेल

मेरठ

 11-07-2021 02:24 PM
स्तनधारी
अंटार्कटिक ब्लू व्हेल (Antarctic blue whale), जिसे वैज्ञानिक तौर पर बालेनोप्टेरा मस्कुलस एसएसपी इंटरमीडिया (Balaenoptera musculus ssp Intermedia) कहा जाता है, इस ग्रह पर सबसे बड़ा जानवर है, जिसका वजन 400,000 पाउंड (लगभग 33 हाथी) तक होता है और लंबाई 98 फीट तक होती है। व्हेल का दिल एक छोटी कार के आकार का होता है, तथा मुख्य भोजन के मौसम के दौरान, यह प्रति दिन लगभग 7936 पाउंड क्रिल (Krill) की खपत करता है। यह पृथ्वी पर सबसे ऊंची आवाज उत्पादित करने वाला जानवर है, जिसकी आवाज एक जेट इंजन से भी ऊंची होती है। इसकी ऊंची आवाज 188 डेसिबल तक पहुंचती है, जबकि एक जेट की ऊंची आवाज 140 डेसिबल तक पहुंचती है। व्हेल की कम आवृत्ति वाली सीटी सैकड़ों मील तक सुनी जा सकती है और संभवत: अन्य ब्लू व्हेल को आकर्षित करने के लिए इसका उपयोग किया जाता है। अंटार्कटिक ब्लू व्हेल 'गंभीर रूप से संकटग्रस्त' है। अंटार्कटिका में ब्लू व्हेल की आबादी वाणिज्यिक व्हेलिंग से काफी कम हो गई थी, जो 1904 में दक्षिणी अटलांटिक (Atlantic) महासागर में शुरू हुई थी। 1960 के दशक में अंतर्राष्ट्रीय व्हेलिंग आयोग के माध्यम से कानूनी संरक्षण के बावजूद, अवैध शिकार 1972 तक जारी रहा। 1926 में इनकी संख्या लगभग 125,000 थी, जो 2018 में लगभग 3,000 तक कम हो गयी थी, जिसकी वजह से प्रकृति संरक्षण के लिए अंतर्राष्ट्रीय संघ की रेड लिस्ट में इसे "गंभीर रूप से संकटग्रस्त" जीव के रूप में वर्गीकृत किया गया। हाल ही में अंटार्कटिक ब्लू व्हेल की एक उल्लेखनीय संख्या देखी गई थी। ब्रिटिश अंटार्कटिक सर्वेक्षण के नेतृत्व में वैज्ञानिकों की एक टीम ने 2020 के अपने अभियान के दौरान दक्षिण जॉर्जिया (Georgia) के उप-अंटार्कटिक द्वीप में से लौटते समय 55 अंटार्कटिक ब्लू व्हेल की गिनती की। इससे पता चलता है, कि दक्षिण जॉर्जिया का जल उनके लिए एक महत्वपूर्ण ग्रीष्मकालीन भोजन स्थल बना हुआ है। ब्रिटिश अंटार्कटिक सर्वेक्षण में व्हेल पारिस्थितिकीविद् डॉ जेनिफर जैक्सन (Dr Jennifer Jackson) कहती हैं, कि "हम यह देखकर रोमांचित हैं कि तीन साल के सर्वेक्षण के बाद, दक्षिण जॉर्जिया में फिर से इतने सारे व्हेल देखने को मिले हैं, जो यहां अपना भोजन प्राप्त कर रहे हैं। यह एक ऐसी जगह है जहां व्हेलिंग और सीलिंग दोनों बड़े पैमाने पर किए जाते थे। यह स्पष्ट है कि व्हेलिंग से जो सुरक्षा व्हेल को दी गयी थी, उसने काम किया है। अब हंपबैक (Humpback) व्हेल भी उसी घनत्व में यहां दिखाई देने लगी, जिस घनत्व में यह एक सदी पहले अर्थात दक्षिण जॉर्जिया में व्हेलिंग की शुरूआत के समय दिखाई देती थी।

संदर्भ:
https://wwf.to/3k0kWrr
https://bit.ly/3humiJ6
https://bit.ly/3ww7aPQ

RECENT POST

  • एक पौराणिक जानवर के रूप में प्रसिद्ध थे जिराफ
    शारीरिक

     26-06-2022 10:08 AM


  • अन्य शिकारी जानवरों पर भारी पड़ रही हैं, बाघ केंद्रित संरक्षण नीतियां
    निवास स्थान

     25-06-2022 09:49 AM


  • हम में से कई लोगों को कड़वे व्यंजन पसंद आते हैं, जबकि उनकी कड़वाहट कई लोगों के लिए सहन नहीं होती
    स्वाद- खाद्य का इतिहास

     24-06-2022 09:49 AM


  • भारत में पश्चिमी शास्त्रीय संगीत धीरे-धीरे से ही सही, लेकिन लोकप्रिय हो रहा है
    ध्वनि 1- स्पन्दन से ध्वनि

     23-06-2022 09:30 AM


  • योग शरीर को लचीला ही नहीं बल्कि ताकतवर भी बनाता है
    य़ातायात और व्यायाम व व्यायामशाला

     22-06-2022 10:23 AM


  • प्रोटीन और पैसों से भरा है कीड़े खाने और खिलाने का व्यवसाय
    तितलियाँ व कीड़े

     21-06-2022 09:54 AM


  • कृत्रिम बुद्धिमत्ता गलत सूचना उत्पन्न करने और साइबरसुरक्षा विशेषज्ञों के साथ छल करने में है सक्षम
    संचार एवं संचार यन्त्र

     20-06-2022 08:51 AM


  • विस्मयकारी है दो जंगली भेड़ों के बीच का हिंसक संघर्ष
    व्यवहारिक

     19-06-2022 12:13 PM


  • कैसे, मौत से भी लड़ने का साहस दे रही है, मशरूम
    फंफूद, कुकुरमुत्ता

     18-06-2022 10:08 AM


  • उष्णकटिबंधीय पक्षी अधिक रंगीन क्यों होते हैं? मनुष्य भी कर रहे हैं प्रजातियों के दृश्य वातावरण को प्रभावित
    पंछीयाँ

     17-06-2022 08:10 AM






  • © - 2017 All content on this website, such as text, graphics, logos, button icons, software, images and its selection, arrangement, presentation & overall design, is the property of Indoeuropeans India Pvt. Ltd. and protected by international copyright laws.

    login_user_id