क्या है, मोंड्रियन की कला शैली ?

मेरठ

 30-08-2020 12:21 PM
द्रिश्य 3 कला व सौन्दर्य

अगर हम प्रारंग का संधि विच्छेद करते हैं तो हमें प्रा + रंग दो शब्द प्राप्त होते हैं, जहां प्रा का अर्थ प्राथमिक (प्रारंभिक/प्राचीन) से है और रंग का आशय वर्ण से हैं। प्रारंग भारत की एकता में अनेकता के रंग को उसी तरह संदर्भित करता है, जिस तरह प्राथमिक रंग बाकी सभी रंगों को करते हैं।

प्राथमिक रंग, रंगों के वो मान (Rate) होते हैं, जिनके मिश्रण से सभी रंग बनाये जा सकते हैं। मानव दृष्टि हेतु तीन प्राथमिक वर्ण ही प्रयोग किये जाते हैं, क्योंकि ये दृष्टि त्रिक्रोमैटिक (trichromatic) होती है। प्रारंग के लोगो में प्रयुक्त किये गए रंग प्राकृतिक रंग हैं।

पीटर कॉर्नेलिस मोंड्रियन (Pieter Cornelis Mondriaan), 1906 के बाद से पीट मोंड्रियन (Piet Mondrian) एक डच चित्रकार और सिद्धांतकार थे, जिन्हें 20 वीं शताब्दी के महानतम कलाकारों में से एक माना जाता है। इन्होने 20 वीं सदी के अमूर्त कला के अग्रदूतों में से एक के रूप में प्रसिद्धि प्राप्त की, क्योंकि इन्होने आलंकारिक चित्रकला से अपनी कलात्मक दिशा को तेजी से एक अमूर्त शैली में बदल दिया, जब तक कि वह एक ऐसे बिंदु तक नहीं पहुंच गए, जहां उनकी कलात्मक शब्दावली सरल ज्यामितीय तत्वों तक कम हो गई थी। मोंड्रियन की प्राथमिक रंगों के साथ क्यूबिज़्म (Cubism) शैली की पेंटिंग्स के कारण भारी प्रसिद्धि मिली।

तो आइये आनंद लें मोंड्रियन की कला शैली का।



सन्दर्भ:
https://www.youtube.com/watch?v=zkhcWp9cPHg
https://www.youtube.com/watch?v=zKWOWDKILOE
https://www.youtube.com/watch?v=dNQd2aoeGRk
https://www.youtube.com/watch?v=1x8m-7N-Kjo



RECENT POST

  • माइक्रोलिथ्स के विकास द्वारा चिन्हित किया जाता है, मध्यपाषाण युग
    ठहरावः 2000 ईसापूर्व से 600 ईसापूर्व तक

     01-12-2020 11:23 AM


  • मौसमी फल और सब्जियों के सेवन से हैं अनेकों फायदे
    साग-सब्जियाँ

     30-11-2020 09:18 AM


  • सदियों से फैशन के बदलते रूप को प्रदर्शित करती हैं, फ़यूम मम्मी पोर्ट्रेट्स
    द्रिश्य 3 कला व सौन्दर्य

     28-11-2020 07:10 PM


  • वृक्ष लगाने की एक अद्भुत जापानी कला बोन्साई (Bonsai)
    पेड़, झाड़ियाँ, बेल व लतायें

     28-11-2020 09:03 AM


  • गंध महसूस करने की शक्ति में शहरीकरण का प्रभाव
    गंध- ख़ुशबू व इत्र

     27-11-2020 08:34 AM


  • विशिष्ट विषयों और प्रतीकों पर आधारित है, जैन कला
    द्रिश्य 3 कला व सौन्दर्य

     26-11-2020 09:05 AM


  • सेना में बैंड की शुरूआत और इसका विस्‍तार
    द्रिश्य 2- अभिनय कला

     25-11-2020 10:26 AM


  • अंतिम ‘वस्तुओं’ के अध्ययन से सम्बंधित है, ईसाई एस्केटोलॉजी
    विचार I - धर्म (मिथक / अनुष्ठान)

     24-11-2020 08:13 AM


  • क्वांटम कंप्यूटिंग को रेखांकित करते हैं, क्वांटम यांत्रिकी के सिद्धांत
    विचार 2 दर्शनशास्त्र, गणित व दवा

     22-11-2020 10:22 AM


  • धार्मिक महत्व के साथ-साथ ऐतिहासिक महत्व से भी जुड़ा है, श्री औघड़नाथ शिव मन्दिर
    वास्तुकला 1 वाह्य भवन

     22-11-2020 08:16 PM






  • © - 2017 All content on this website, such as text, graphics, logos, button icons, software, images and its selection, arrangement, presentation & overall design, is the property of Indoeuropeans India Pvt. Ltd. and protected by international copyright laws.

    login_user_id