पौराणिक कथाओं के पात्रों से प्रेरित हैं डीसी और मार्वेल कॉमिक के पात्र

मेरठ

 08-06-2019 11:30 AM
ध्वनि 2- भाषायें

कॉमिक (Comics) वर्तमान में अधिकतर बच्चों के जीवन का हिस्सा हैं। जो बच्चों और युवाओं के बीच काफी लोकप्रिय है। इन पत्रिकाओं के पात्रों को बहुत रुचिकर और आकर्षक तरीके से दिखाया जाता है जिससे ये कॉमिक पत्रिकाएं सबका ध्यान स्वतः ही अपनी ओर खींच लेती हैं। कॉमिक के पात्रों को विशेष और अद्भुत शक्तियों के साथ दिखाया जाता है जो वास्तव में विभिन्न पौराणिक कथाओं और साहित्य के पात्रों से प्रेरित हैं। कई कॉमिक पत्रिकाओं के मुख्य पात्र अब्राहमिक (Abrahamic) धर्मों के साथ-साथ ग्रीक, लैटिन और बाइबिल साहित्य से व्युत्पन्न हुए हैं। जीन ग्रे (Jean Grey), बैटमैन (Batman), वंडर वुमन: महिला योद्धा (Wonder Woman: The female warrior), दी हल्क (The Hulk) आदि कॉमिक पत्रिकाओं में पौराणिक कथाओं के प्रभाव को आसानी से देखा जा सकता है क्योंकि इन पत्रिकाओं के नायकों को पौराणिक कथाओं के नायकों के समान ही स्वभाव से महान, निश्चय से धर्मी, और भौतिक रूप से मज़बूत दिखाया गया है।

विश्व के सबसे प्रसिद्ध सुपरहीरो (Superhero) सुपरमैन (Superman) और कैप्टन अमेरिका (Captain America) भी दो ऐसी कॉमिक पत्रिकाओं के पात्र हैं जिन्होंने विश्व युद्धों के दौरान तब प्रसिद्धि पाई जब विश्व को देशभक्ति और राष्ट्रीय गौरव की सबसे अधिक आवश्यकता थी। सुपरमैन की ताकत, कद और उसकी दैव्‍य विशेषताएं उसे यूनान के प्राचीन शक्तिशाली मानव के जैसा बनाती हैं। सामान्यतः कॉमिक पत्रिकाओं में सुपरहीरो (मुख्य पात्र) के जीवन की तीन प्रावस्थाओं को दिखाया जाता है। पहली प्रावस्था में नायक एक दिव्य या अलौकिक शक्ति की ओर आकर्षित होता है जिससे अधर्म के विरूद्ध उसकी यात्रा की शुरूआत होती है। दूसरी प्रावस्था में नायक के साहस को परखा जाता जिसमें वह सफल हो जाता है तथा तीसरी प्रावस्था में नायक अपना कर्तव्य निभाते हुए निःस्वार्थ भाव से समाज की सेवा करता चला जाता है। पौराणिक कथाओं में दिव्य व्यक्तियों का जीवन भी ठीक ऐसा ही है। कॉमिक मुख्य रूप से इस बात पर केंद्रित होती हैं कि एक सुपरहीरो कैसे किसी विशेष समय में अपनी सूझ-बूझ, और दिव्य शक्तियों के द्वारा सामाजिक मुद्दों या समस्याओं का हल निकालता है। जिस प्रकार पौराणिक कथाओं के मुख्य पात्रों में दिव्य और अलौकिक गुण होते थे, ठीक उसी प्रकार से कॉमिक पत्रिकाओं के मुख्य पात्रों को भी शक्तिशाली, अद्वितीय, और दिव्य गुणों से भरपूर दिखाया गया है।

कॉमिक की दुनिया के दिग्गज डीसी (DC) और मार्वल (Marvel) की अधिकतर कॉमिक पत्रिकाएं भी ग्रीक और रोम की पौराणिक कथाओं के पात्रों से ही प्रेरित हैं। नोर्स (Norse), यूनान, मिस्र, जापान, मेसोपोटामिया आदि के देवी देवताओं को ज़्यूस पेन्हेलेनियोस (Zeus Panhellenios), अम्मोन रा (Ammon Ra), एथीना पार्थेनोस (Athena Parthenos), थोर ओडिसन (Thor Odinson), बाल्डर ओडिसन (Balder Odinson), हर्क्युलीस (Hercules), अमात्सु कामि (Amatsu-Kami), एनियाड (Ennead) आदि को पात्रों के रूप में इन कॉमिक पत्रिकाओं में दिखाया गया है।

रोचक बात तो यह है कि डीसी और मार्वल कॉमिक पत्रिकाएं भारतीय पौराणिक कथाओं के पात्रों से भी प्रेरित हैं। इन कॉमिक पत्रिकाओं ने भगवान इंद्र, शिव, ब्रह्मा, विष्णु, गणेश, माता काली, यम, आदि हिंदू देवी देवताओं को अपने मुख्य पात्रों के रूप में दर्शाया है। भारत की प्रसिद्ध पौराणिक कथाओं रामायण और महाभारत के किरदारों ने मुख्य रूप से इन कॉमिक पत्रिकाओं के पात्रों को प्रेरित किया है। पात्रों के रूप में भगवान राम, माता सीता, हनुमान, रावण, कृष्ण आदि को डीसी और मार्वेल कॉमिक पत्रिकाओं में देखा जा सकता है। मार्वल के ‘एक्स – मेन अपोकलिप्स’ (X-Men Apocalypse) में एक किरदार ने एक बार ऐसा भी कहा था कि किसी युग में लोग उसे कृष्ण के नाम से जानते थे। वहीं डीसी में ‘रामा’ नाम का एक किरदार भगवान राम से प्रेरित है। यहाँ तक कि विश्व प्रसिद्ध स्पाइडरमैन (Spiderman) का एक संस्करण भारत के स्पाइडरमैन को दर्शाता है। जहाँ अंग्रेज़ी कॉमिक में इस किरदार का नाम पीटर पार्कर था, वहीं इसके भारतीय संस्करण में इसका नाम ‘पवित्र प्रभाकर’ रखा गया। क्रिश जैसे आधुनिक भारतीय सुपरहीरो भी भगवान कृष्ण के किरदार से ही प्रेरित हैं।

वर्तमान में भारत की प्राचीन पौराणिक कथाओं को अधिकतर टेलीविज़न शो (Television show), लाइव-एक्शन (Live action) और एनिमेशन( Animation) के रूप में दिखाया जा रहा है। 1980 और 1990 के दशक में, महाभारत और रामायण सफल टीवी शो थे। आज के युग में छोटी उम्र के दर्शकों को कार्टून शो (Cartoon show) जैसे छोटा भीम और माई फ्रेंड गणेश (My Friend Ganesha) आदि प्रभावित कर रहे हैं। भारतीय और अन्य संस्कृतियों में मीडिया (Media) में बदलाव आने के कारण इन कॉमिक पत्रिकाओं की बिक्री में अब धीरे-धीरे गिरावट आ रही है।

संदर्भ:
1. https://www.gizmodo.co.uk/2016/03/myths-monsters-and-heroes-how-comic-books-were-influenced-by-the-stories-from-our-past/
2. https://www.monkprayogshala.in/press-releases/2016/11/25/mythology-and-comics-the-case-of-india-and-the-west
3. https://www.quora.com/Which-Marvel-and-DC-superheroes-are-based-on-ancient-mythological-gods
4. https://www.quora.com/Which-DC-Marvel-characters-are-inspired-from-Hindu-mythology

RECENT POST

  • मेरठ का 300 साल पुराना शानदार अबू का मकबरा आज बकरियों का तबेला बनकर रह गया है
    वास्तुकला 1 वाह्य भवन

     28-06-2022 08:15 AM


  • ब्लास्ट फिशिंग से होता न सिर्फ मछुआरे की जान को जोखिम, बल्कि जल जीवों को भी भारी नुकसान
    मछलियाँ व उभयचर

     27-06-2022 09:25 AM


  • एक पौराणिक जानवर के रूप में प्रसिद्ध थे जिराफ
    शारीरिक

     26-06-2022 10:08 AM


  • अन्य शिकारी जानवरों पर भारी पड़ रही हैं, बाघ केंद्रित संरक्षण नीतियां
    निवास स्थान

     25-06-2022 09:49 AM


  • हम में से कई लोगों को कड़वे व्यंजन पसंद आते हैं, जबकि उनकी कड़वाहट कई लोगों के लिए सहन नहीं होती
    स्वाद- खाद्य का इतिहास

     24-06-2022 09:49 AM


  • भारत में पश्चिमी शास्त्रीय संगीत धीरे-धीरे से ही सही, लेकिन लोकप्रिय हो रहा है
    ध्वनि 1- स्पन्दन से ध्वनि

     23-06-2022 09:30 AM


  • योग शरीर को लचीला ही नहीं बल्कि ताकतवर भी बनाता है
    य़ातायात और व्यायाम व व्यायामशाला

     22-06-2022 10:23 AM


  • प्रोटीन और पैसों से भरा है कीड़े खाने और खिलाने का व्यवसाय
    तितलियाँ व कीड़े

     21-06-2022 09:54 AM


  • कृत्रिम बुद्धिमत्ता गलत सूचना उत्पन्न करने और साइबरसुरक्षा विशेषज्ञों के साथ छल करने में है सक्षम
    संचार एवं संचार यन्त्र

     20-06-2022 08:51 AM


  • विस्मयकारी है दो जंगली भेड़ों के बीच का हिंसक संघर्ष
    व्यवहारिक

     19-06-2022 12:13 PM






  • © - 2017 All content on this website, such as text, graphics, logos, button icons, software, images and its selection, arrangement, presentation & overall design, is the property of Indoeuropeans India Pvt. Ltd. and protected by international copyright laws.

    login_user_id