क्या, हम तैयार हैं कोरोना वायरस से लड़ने के लिए

लखनऊ

 18-03-2020 01:20 PM
कीटाणु,एक कोशीय जीव,क्रोमिस्टा, व शैवाल

वर्तमान समय में सम्पूर्ण दुनिया कोरोनावायरस (Coronavirus) नामक महामारी से गुज़र रहा है। यह एक प्रकार का संक्रमक विषाणु है जो मानव जाति में एक मानव से दूसरे मानव में फैलता है। इस विषाणु से पीड़ित व्यक्ति को ज़ुखाम, ख़ासी और मांसपेशियों में दर्द महसूस होता है। अभी तक इसका कोई उपचार ना होने के कारण कई लोगों की मौत भी हो रही है। यह एक ऐसी बिमारी है जिसने वर्तमान दुनिया को एक ऐसे संकट में डाल दिया है जिसमें से निकलना सर्वथा असंभव सा प्रतीत हो रहा है। आज इसे दुनिया भर में महामारी की संज्ञा दे दी गयी है। तमाम देशों ने अपने दरवाज़े अन्य देशों के लोगों के लिए बंद कर लिए हैं।

भारत की बात करें तो यहाँ पर भी विदेश से आने वाले सभी सैलानियों आदि को रोक दिया गया है। भारत भर में तमाम स्कूल-कॉलेजों को बंद कर दिया गया है। इस विषाणु का क़हर सम्पूर्ण विश्व पर है और सबसे ज़्यादा प्रभाव चीन और इटली (Italy) में देखने को मिल रहा है, जहाँ पर मृतकों की संख्या हज़ारों से ऊपर पहुँच गयी है। इसके अलवा भारत में इससे पीड़ित लोगों की संख्या 100 से ऊपर पहुँच चुकी है। इस विषाणु की पहचान चीन के वुहान (Wuhan) में हुयी थी, जिसके बाद यह धीरे-धीरे हर देश में एक महामारी की तरह फैल रहा है। एक प्रमुख आईटी सेवा प्रबंधन कंपनी गार्टनर (Gartner) की एक रिपोर्ट में कहा गया है कि भारत में 54 प्रतिशत कंपनियों के पास घर पर काम करने के लिए कर्मचारियों के लिए पर्याप्त तकनीक और संसाधन नहीं हैं। कंपनियों के सामने 'घर से काम करने' के मॉडल के बारे में एक और बाधा सॉफ्टवेयर (Software) की लागत है। कुछ बहुत महंगे हैं जबकि कई अन्य केवल कार्यालय में उपयोग किए जा सकते हैं और निजी लैपटॉप (Laptop) पर नहीं। आमतौर पर घर में उपलब्ध इंटरनेट सुविधा या ब्रॉडबैंड कनेक्शन (Broadband Connection) की तुलना में कार्यालय इंटरनेट बहुत तेज़ होता है जिसका उपयोग कर्मचारी घर से लॉग इन करने के लिए नही कर सकते हैं।

ऐसे हालात में सम्पूर्ण मनुष्य जाति को एक साथ मिलकर इससे लड़ना होगा और यह लड़ाई हथियारों से नहीं लड़ी जानी है, बल्कि इस लड़ाई में हमको आपको उन सारे नियमों का पालन कर लड़ना है जो विश्व स्वास्थ्य संगठन लगातार जारी कर रहा है। अगर ज़रा सी भी लापरवाही हुई तो कोरोना जीत जाएगा और मानव जाति की बहुत बड़ी हार होगी। कोरोना विषाणु का कोई भी इलाज नहीं खोजा जा सका है तो अभी तक इससे बचाव ही इसका सबसे बड़ा इलाज है। तो हमें जंग जीतने के लिए विश्व स्वास्थ्य संगठन के द्वारा जारी निर्देशों का पालन अच्छे से करना है।

विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार लोगों से लगभग एक मीटर की दूरी बना कर रखें, अपने चेहरे को मास्क (Mask) या कपड़े से ढके रहें, अपने हाथो को लगभग हर 30 मिनट के अंतराल पर धोते रहें, सफ़र में बाहर कहीं मत जाएं, भीड़-भाड़ वाले इलाक़े से दूरी बना कर रहें, अपने घर पर ही दफ़्तर का काम करें, लोगों से हाथ मिलाने से बचें। इसके साथ ही विश्व स्वास्थ्य संगठन ने देशों को भी निर्देश जारी किए हैं कि प्रत्येक देश की सरकारें यह तय करें कि देश की जनता सुरक्षित है, जनता की बेहतरी के लिए लगातार कोशिशें करती रहें। इसके अलावा सोशल मीडिया (Social Media) पर इस विषाणु को लेकर विभिन्न तरह की भ्रमक ख़बरें फैलाई जा रही हैं, जिनसे लोगों में भ्रम और ग़लत संदेश जा रहा है जो कि हानिकारक साबित हो सकता है। लोगों से उम्मीद की जाती है कि वे इन भ्रमक अफ़वाहों पर ध्यान नहीं देंगे। उपरोक्त लिखित बिन्दुओं को यदि माना जाए और उनका पालन किया जाए तो इस बीमारी से आसानी से लड़ा जा सकता है।

सन्दर्भ:
1.
https://www.theverge.com/2020/3/4/21164563/coronavirus-risk-communication-cdc-trump-trust
2. https://hrexecutive.com/coronavirus-why-employers-need-to-strike-a-balance-on-communication/
3. https://bit.ly/2TODPQk
चित्र सन्दर्भ:
1.
https://pixabay.com/it/photos/face-mask-wuchang-epidemic-4898146/
2. Tourists wear protective masks at the Taj Mahal.The spread of coronavirus has hit an Indian economy struggling with slow growth © Pawan/PTI/dpa



RECENT POST

  • 1869 तक मिथक था, विशाल पांडा का अस्तित्व
    शारीरिक

     26-06-2022 10:10 AM


  • उत्तर और मध्य प्रदेश में केन-बेतवा नदी परियोजना में वन्यजीवों की सुरक्षा बन गई बड़ी चुनौती
    निवास स्थान

     25-06-2022 09:53 AM


  • व्यस्त जीवन शैली के चलते भारत में भी काफी तेजी से बढ़ रहा है सुविधाजनक भोजन का प्रचलन
    स्वाद- खाद्य का इतिहास

     24-06-2022 09:51 AM


  • भारत में कोरियाई संगीत शैली, के-पॉप की लोकप्रियता के क्या कारण हैं?
    ध्वनि 1- स्पन्दन से ध्वनि

     23-06-2022 09:37 AM


  • योग के शारीरिक और मनो चिकित्सीय लाभ
    य़ातायात और व्यायाम व व्यायामशाला

     22-06-2022 10:21 AM


  • भारत के विभिन्‍न धर्मों में कीटों की भूमिका
    तितलियाँ व कीड़े

     21-06-2022 09:56 AM


  • सोशल मीडिया पर समाचार, सार्वजनिक मीडिया से कैसे हैं भिन्न?
    संचार एवं संचार यन्त्र

     20-06-2022 08:54 AM


  • अपने रक्षा तंत्र के जरिए ग्रेट वाइट शार्क से सुरक्षित बच निकलती है, सील
    व्यवहारिक

     19-06-2022 12:16 PM


  • संकट में हैं, कमाल के कवक, पारिस्थितिकी तंत्र में देते बेहद अहम् योगदान
    फंफूद, कुकुरमुत्ता

     18-06-2022 10:02 AM


  • बढ़ते शहरीकरण के इस युग में पक्षियों के अनुकूल बुनियादी ढांचे बनाने की आवश्यकता है
    पंछीयाँ

     17-06-2022 08:13 AM






  • © - 2017 All content on this website, such as text, graphics, logos, button icons, software, images and its selection, arrangement, presentation & overall design, is the property of Indoeuropeans India Pvt. Ltd. and protected by international copyright laws.

    login_user_id