लखनऊ में बहुत विशाल पैमाने पर किया गया डिफेंस एक्सपो (Defence Expo)

लखनऊ

 22-02-2020 01:30 PM
हथियार व खिलौने

लखनऊ में विशाल स्पर्धाएं और बडे-बडे सम्मेलन प्रायः होते रहते हैं जिसका एक उदाहरण फरवरी 2020 में हुआ डिफेंस एक्सपो (Defence Expo) या रक्षा एक्सपो भी है। यह लखनऊ के लिए वास्तव में बहुत ही गर्व की बात है क्योंकि इस तरह का कोई बडा आयोजन पहली बार लखनऊ में हुआ अर्थात लखनऊ ने पहली बार इस आयोजन की मेजबानी की। यह आयोजन लखनऊ में बहुत विशाल पैमाने पर किया गया क्योंकि एक्सपो में 925 से भी अधिक प्रदर्शकों ने अपने शीर्ष रक्षा और सैन्य उपकरणों का प्रदर्शन किया। आयोजन 5 से 9 फरवरी के बीच सम्पन्न हुआ जिसका विषय ‘इंडिया: द इमर्जिंग डिफेंस मैन्युफैक्चरिंग हब' (India: The Emerging Defence Manufacturing Hub) रखा गया। यह विषय यह इंगित करता है कि भारत का लक्ष्य शस्त्र निर्माण और व्यापार हेतु देश में मजबूत आधार बनाने और स्थापित करने के लिए अंतरराष्ट्रीय रक्षा कंपनियों तक अपनी पहुंच बनाना है।

डिफेंस एक्सपो में कुछ आधुनिक और अत्याधुनिक शीर्ष सैन्य उपकरणों को दिखाया गया जो कि भारत की सैन्य और रक्षात्मक प्रगति को बढ़ाने में सहायक हैं। प्रदर्शनी में 925 प्रदर्शक थे, जिनमें से 150 विदेशी रक्षा उपकरण निर्माता जबकि 775 भारत के ही रक्षा उपकरण निर्माता थे। आयोजन में सबसे बड़े आकर्षणों में से एक एफ - 21 फाइटर जेट (F-21 fighter jet) था जिसे अमेरिकी एयरोस्पेस (Aerospace) दिग्गज लॉकहीड मार्टिन द्वारा लाया गया था। यूरोपीय विमान निर्माता, एयरबस (Airbus) ने भी अपने नवीनतम सैन्य उपकरणों और प्रौद्योगिकियों को कार्यक्रम स्थल पर प्रदर्शित किया जिनमें AS565 MBe पैंथर (Panther), H145M और H225M हेलीकॉप्टर शामिल थे। भारतीय रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन (DRDO) ने भी विभिन्न क्षेत्रों से 500 से अधिक उत्पादों का प्रदर्शन किया। लखनऊ डिफेंस एक्सपो का उद्घाटन प्रधान मंत्री श्री नरेंद्र मोदी द्वारा किया गया जिसमें दुनिया भर के विभिन्न गणमान्य व्यक्तियों ने भाग लिया।

भारतीय कंपनी स्टम्प्प शुएले और सोमप्पा (Stumpp Schuele & Somappa-SSS) डिफेंस ने प्रदर्शनी के दौरान अपनी दो नई स्नाइपर राइफलों (sniper rifles) का भी प्रदर्शन किया। ये नई राइफलें बैंगलौर के कोरमंगला फर्म (Firm) द्वारा स्वदेशी रूप से सशस्त्र बलों के लिए, डिजाइन और विकसित की गयी हैं। जहां SSS डिफेंस इन दो हथियारों को विशेष बलों के साथ जल्द ही परीक्षण पर रखने के लिए आशान्वित है वहीं इसकी नजर निर्यात बाजार पर भी है। इसके अनुसार यह न केवल हथियार की पेशकश करेगा बल्कि उपयोगकर्ताओं को हथियार चलाने के लिए आवश्यक गोला-बारूद, प्रकाशिकी और अन्य सहायक उपकरण भी प्रदान करेगा जो SSS डिफेंस को अद्वितीय बनाता है। इन दोनों राइफलों को सैन्य बल की नवीन आवश्यकताओं के अनुरूप बनाया गया है जिसका परीक्षण अमेरिका में किया जा चुका है। इन दोनों राइफलों, बोल्ट एक्शन सेबर (bolt-action Sabre) और वाइपर राइफल को क्रमशः .338 लापुआ मैग्नम (Lapua Magnum) और 7.62 × 51 नाटो कैलीब्रे (NATO calibres) के लिए उपयोग किया गया है। .338 लापुआ मैग्नम (8.6 × 70 मिमी या 8.58 × 70 मिमी) एक रिमरहित (Rimless) सेंट्रेफायर (centerfire) राइफल कारतूस है जिसे उच्च-शक्ति, लंबी दूरी के कारतूस के रूप में 1980 के दशक के दौरान सैन्य निशानेबाजों के लिए विकसित किया गया था। इसका उपयोग अफगानिस्तान युद्ध और इराक युद्ध में किया गया जिसके परिणामस्वरूप, यह अधिक व्यापक रूप से उपलब्ध हो गया। लोड (load) किये गये कारतूस का व्यास 14.93 मिमी (0.588 इंच) और लम्बाई 93.5 मिमी (3.68 इंच) है।

सैन्य हथियारों की तकनीक की बदलती गतिशीलता के साथ SSS डिफेंस ने स्टम्पप शुएले लेविस मशीन टूल्स (SSLMT) के साथ इस क्षेत्र में प्रवेश किया। 100% भारतीय स्वामित्व वाला यह उद्यम उच्च गुणवत्ता वाली आग्नेयास्त्रों, बन्दूक के कलपुर्जों, सहायक उपकरण और मशीनी उत्पादों के निर्माण हेतु व्यवसाय इकाई है जिसका उद्देश्य भारत को पूरे एशिया में हथियार निर्माण, डिजाइन, अनुसंधान और विकास के क्षेत्र में सबसे आगे ले जाना तथा भारतीय सशस्त्र बलों और कानून प्रवर्तन एजेंसियों (agencies) के लिए पसंदीदा रणनीतिक भागीदार बनना है। इनकी निवेश सूची में अनुसंधान और विकास, प्रोटोटाइपिंग (Prototyping) तथा असॉल्ट राइफल्स (Assault Rifles), स्नाइपर, विशेष — प्रयोजन की राइफल्स, पिस्तौल इत्यादि का उत्पादन या निर्माण शामिल है। इसके अलावा प्रौद्योगिकी के हस्तांतरण, तकनीकी प्रशिक्षण और निशानेबाजी प्रशिक्षण को शामिल करने की एक व्यापक पेशकश के साथ यह बिल्ड ऑपरेट एंड ट्रांसफर टेक्नोलॉजी (Build Operate & Transfer Technology-BOTT) के लिए एक विशेष कार्यक्रम भी संस्थापित कर रहा हैं।

संदर्भ:
1.
https://bit.ly/3bXNXxs
2. https://www.janes.com/article/94121/defexpo-2020-sss-defence-displays-new-sniper-rifles
3. https://bit.ly/2v1dMMr
4. https://en.wikipedia.org/wiki/.338_Lapua_Magnum
5. https://www.sssdefence.com/small-arms.html



RECENT POST

  • मानव सभ्यता के विकास का महत्वपूर्ण काल है, नवपाषाण युग
    ठहरावः 2000 ईसापूर्व से 600 ईसापूर्व तक

     01-12-2020 10:22 AM


  • खट्टे-मीठे विशिष्ट स्वाद के कारण पूरे विश्व भर में लोकप्रिय है, संतरा
    साग-सब्जियाँ

     30-11-2020 09:24 AM


  • सोने-कांच की तस्वीरों में आज भी जीवित है, कुछ रोमन लोगों के चेहरे
    द्रिश्य 3 कला व सौन्दर्य

     29-11-2020 07:21 PM


  • कोरोना महामारी बनाम घरेलू किचन गार्डन
    पेड़, झाड़ियाँ, बेल व लतायें

     28-11-2020 09:06 AM


  • लखनऊ की परिष्कृत और उत्कृष्ट संस्कृति का महत्वपूर्ण हिस्सा है, इत्र निर्माण की कला
    गंध- ख़ुशबू व इत्र

     27-11-2020 08:39 AM


  • भारतीय कला पर हेलेनिस्टिक (Hellenistic) कला का प्रभाव
    द्रिश्य 3 कला व सौन्दर्य

     26-11-2020 09:20 AM


  • पाक-कला की एक उत्‍कृष्‍ट शैली लाइव कुकिंग
    द्रिश्य 2- अभिनय कला

     25-11-2020 10:32 AM


  • आत्मा और मानव जाति की मृत्यु, निर्णय और अंतिम नियति से सम्बंधित है, एस्केटोलॉजी
    विचार I - धर्म (मिथक / अनुष्ठान)

     24-11-2020 08:40 AM


  • मानवता की सबसे बड़ी वैज्ञानिक उपलब्धियों में से एक है, लेजर इंटरफेरोमीटर गुरुत्वीय-तरंग वेधशाला द्वारा किये गये अवलोकन
    सिद्धान्त I-अवधारणा माप उपकरण (कागज/घड़ी)

     22-11-2020 10:34 AM


  • लखनऊ की अत्यंत ही महत्वपूर्ण धरोहर शाह नज़फ़ इमामबाड़ा
    वास्तुकला 1 वाह्य भवन

     22-11-2020 11:21 AM






  • © - 2017 All content on this website, such as text, graphics, logos, button icons, software, images and its selection, arrangement, presentation & overall design, is the property of Indoeuropeans India Pvt. Ltd. and protected by international copyright laws.