जल में उगने वाली वनस्पतियां: लखनऊ

लखनऊ

 23-06-2017 12:00 PM
निवास स्थान
वनस्पतियां सिर्फ थल पर ही नहीं उपजती अपितु यह जल के अन्दर भी उपजती हैं| समंदर, नदियों व तालाबों में कई प्रकार की वनस्पतियां पाई जाती हैं जैसे कमल, कुमुदनी, सिंघाड़ा आदि| जलीय पौधे खारे पानी व ताजे पानी में, दोनों में पाए जाते हैं| इनको जलीय पादप व मैक्रोफाइट के नाम से जाना जाता है| यह वनस्पतियां पानी के अन्दर व ऊपर दोनों परिस्थितियों में रहती हैं| जलीय वनस्पतियां जल में या फिर ऐसे स्थानों पर उगती हैं जहाँ पर भूमि गीली हो और जल जमाव भी होता हो| विश्व की सबसे बड़ी जलीय वनस्पति अमेज़न वाटर लिली है तथा सबसे छोटी डक वीड है| जलीय वनस्पतियों को मुख्य रूप से 6 भागों में विभाजित किया जा सकता है - 1- एम्फीफाईट्स: ऐसे पौधे जो जल के अन्दर या बाहर दोनों प्रकार से रह सकने में सक्षम हों| 2- एलोडेड्स: ऐसे पौधे जो अपने पूरे जीवन काल में पानी के अन्दर ही रहते हैं बाहर सिर्फ उनके पुष्प ही दिखाई देते हैं| 3- आइसोटाड्स: ऐसे पौधे जो हमेशा पानी के अन्दर ही रहते हैं और किसी भी रूप में पानी के बाहर नहीं निकलते| 4- हेलोफाइट्स: इस प्रकार कि वनस्पतियों के जड़ पानी के अन्दर रहते हैं और पत्तियां पानी के ऊपर| 5- नाइम्फाइड्स: ऐसे पौधे जिनका जड़ पानी के अन्दर रहता है परन्तु ये पत्तों के सहारे पानी के ऊपर तैरती रहती हैं जैसे जलकुम्भी| 6- प्ल्यूस्टन: ऐसे पौधे जो बिना रोक टोक के पानी में तैरते रहते है| लखनऊ में कई प्रकार की जलीय वनस्पतियां पायी जाती हैं जिनमे मुख्य कमल, कुमुदनी, जलकुम्भी आदि हैं| यहाँ पर स्थित वनस्पति शोध संस्थान में कई प्रकार के जलीय पौधों को लगाया गया है तथा इनपर शोध कार्य भी किया जाता है| चित्र में कमल के फूल को दिखाया गया है जिसका वैज्ञानिक नाम नीलम्बो न्यूसीफेरा है तथा कमल को विभिन्न धर्मों में एक विशिस्ट स्थान प्राप्त है| भारत का राष्ट्रीय पुष्प भी कमल ही है| 1. प्लान्टेशन एण्ड एग्रीहॉर्टीकल्चर रिसोर्सेस ऑफ़ केरल: पि.के.के.नायर 2. रिमार्केबल प्लान्टस दैट शेप अवर वर्ल्ड: थेम्स हुडसन 3. वेजिटेबल्स: बी चौधरी

RECENT POST

  • सोने-कांच की तस्वीरों में आज भी जीवित है, कुछ रोमन लोगों के चेहरे
    द्रिश्य 3 कला व सौन्दर्य

     29-11-2020 07:21 PM


  • कोरोना महामारी बनाम घरेलू किचन गार्डन
    पेड़, झाड़ियाँ, बेल व लतायें

     28-11-2020 09:06 AM


  • लखनऊ की परिष्कृत और उत्कृष्ट संस्कृति का महत्वपूर्ण हिस्सा है, इत्र निर्माण की कला
    गंध- ख़ुशबू व इत्र

     27-11-2020 08:39 AM


  • भारतीय कला पर हेलेनिस्टिक (Hellenistic) कला का प्रभाव
    द्रिश्य 3 कला व सौन्दर्य

     26-11-2020 09:20 AM


  • पाक-कला की एक उत्‍कृष्‍ट शैली लाइव कुकिंग
    द्रिश्य 2- अभिनय कला

     25-11-2020 10:32 AM


  • आत्मा और मानव जाति की मृत्यु, निर्णय और अंतिम नियति से सम्बंधित है, एस्केटोलॉजी
    विचार I - धर्म (मिथक / अनुष्ठान)

     24-11-2020 08:40 AM


  • मानवता की सबसे बड़ी वैज्ञानिक उपलब्धियों में से एक है, लेजर इंटरफेरोमीटर गुरुत्वीय-तरंग वेधशाला द्वारा किये गये अवलोकन
    सिद्धान्त I-अवधारणा माप उपकरण (कागज/घड़ी)

     22-11-2020 10:34 AM


  • लखनऊ की अत्यंत ही महत्वपूर्ण धरोहर शाह नज़फ़ इमामबाड़ा
    वास्तुकला 1 वाह्य भवन

     22-11-2020 11:21 AM


  • लखनऊ की दुर्लभ तस्‍वीरों का संकलन
    सिद्धान्त 2 व्यक्ति की पहचान

     21-11-2020 08:29 AM


  • वर्षों से शरणार्थियों को एक सुरक्षित आश्रय स्थल प्रदान कर रहा है, भारत
    सिद्धान्त 2 व्यक्ति की पहचान

     20-11-2020 09:30 PM






  • © - 2017 All content on this website, such as text, graphics, logos, button icons, software, images and its selection, arrangement, presentation & overall design, is the property of Indoeuropeans India Pvt. Ltd. and protected by international copyright laws.