गर्मियों में नदियां ही बन जाती हैं मुफ्त का स्विमिंग पूल, स्थिति हमारी गोमती की

जौनपुर

 13-05-2022 09:33 AM
नदियाँ

सनातन धर्म में, नदियों में स्नान करने की विशेष परंपरा रही है। यदि आप हिंदू धार्मिक संस्कारों पर गौर करें, तो पाएंगे की हर परंपरा, स्वयं में एक कोई न कोई विशेष लाभ समेंटे है! यही कारण है की आज, वैज्ञानिक भी स्विमिंग पूलों की तुलना में नदियों में स्नान करने को, अधिक लाभदायक जान रहे हैं! लेकिन हाल के वर्षों में नदियों में बढ़ते जल प्रदूषण ने नदी में नहाने के इन स्वास्थ लाभों को भी स्वास्थ हानियों में बदलने में कोई कसर नहीं छोड़ी है।
उत्तर प्रदेश के आठ जिलों से होकर बहने वाली गोमती नदी, धीमी लेकिन निश्चित गति से सूख रही है। हम अपने छोटे-मोटे फायदे के लिए इसे हर मोड़ पर नुकसान पंहुचा रहे हैं। यह नदी उत्तर प्रदेश के पीलीभीत में गोमत ताल से निकलती है। नदी की उत्पत्ति के बारे में एक दिलचस्प पौराणिक कथा है। माना जाता है की, जहाँ अब गोमत ताल है, पहले वहाँ एक घना जंगल हुआ करता था। यहां दुर्गा नाथ नाम के एक संत रहा करते थे। किंवदंती है कि वह हर दिन स्नान करने के लिए गंगोत्री के पास गोमुख जाते थे। हालाँकि, बूढ़े होने के कारण, वह लंबी दूरी तय नहीं कर पाते थे। माना जाता है की, एक दिन देवी गोमती ने संत को दर्शन दिए और कहा कि "चूंकि वह अब चल नहीं सकते थे, इस कारण नदी स्वयं उनके पास आएगी।
अगले दिन उन्होंने देखा कि, उनका सारा सामान नदी में तैर रहा है। इस तरह नदी गोमत ताल पहुंची। नदी को संत वशिष्ठ की बेटी और आदि गंगा के रूप में भी जाना जाता है। नदी के किनारे रहने वाले लोग, गोमती की पूजा करते हैं। वे सभी इसे 'गोमती माता' कहते हैं। बहुत से लोग नदी के किनारे शादियों जैसी रस्मों को भी निभाते हैं। कई लोगों के लिए यह नदी, अपने प्रियजनों के अंतिम विश्राम स्थल के रूप में कार्य करती थी। धार्मिक व्यक्तियों के अनुसार गंगा के बाद, गोमती दूसरी सबसे पवित्र नदी है। "यदि आप नदी में डुबकी लगाते हैं तो आपकी सभी मनोकामनाएं पूरी हो जाती हैं। " गोमती नदी के निकट रहने वाले उम्रदराज लोग अपने पुराने दिनों को याद करते हुए कहते हैं की, "हम बच्चे थे तब नदी बहुत चौड़ी हुआ करती थी। अब जबकि यह बहुत प्रदूषित हो चुकी है इसलिए, बहुत कम लोग इसमें डुबकी लगाते हैं। दो-तीन साल पहले नदी पूरी तरह रुक गई थी, लेकिन अब कुछ सरकारी अधिकारियों ने गोमती को पुनर्जीवित करने में दिलचस्पी दिखाई है, “यही कारण है कि नदी अब पहले के वर्षों की तुलना में साफ दिखती है।
अपनी स्थानीय नदी में तैरना किसी के लिए भी एक जादुई और शानदार अनुभव हो सकता है, खासकर तब, जब आप साफ़ पानी वाले क्षेत्र में रहने के लिए भाग्यशाली हैं। नदियों के निकट आनेपर आपको यहां पनपने वाले वन्यजीवन का करीब से अनुभव हो जायेगा। कई नदियाँ समुद्र में जाकर प्रवाह के साथ मिल जाती हैं, तथा ये वन्यजीवों विशेष रूप से पक्षियों और मछलियों के लिए बहुत ही विशेष महत्व रखती हैं। इन दिनों नदियां कई गरीबों के लिए फ्री का स्वीमिंग पूल बन गई है। विभिन्न घाटों पर विभिन्न स्विमिंग क्लबों के तहत तैराकी की कक्षाएं दी जा रही हैं और घाटों पर रहने वाले नाविक, स्थानीय लोगों के लिए अंशकालिक तैराकी कोच बन गए हैं।
अनुभवी तैराकों और नाविकों के अनुसार "शुरुआती लोगों को पूर्ण प्रशिक्षण देने में लगभग 15 से 20 दिन लगते हैं। वह वयस्क पुरुष तैराकों (adult male swimmers) को ही पसंद करते हैं, क्योंकि बच्चों को प्रशिक्षित करना आसान काम नहीं है। "तैराने से पूर्व बच्चों को टायर ट्यूब और सुरक्षा गैजेट (Tire Tubes & Safety Gadgets) सहित सभी आवश्यक उपकरण प्रदान किए जाते हैं।
जिस प्रकार भारत की नदियों में फ्री में स्नान करना, अपने आप में अद्भुत अनुभव होता है, ठीक उसी प्रकार ,एक अन्य द्वीप देश, सिंगापुर भी, हालांकी दुनिया में रहने के लिए सबसे महंगी जगहों में से एक है, लेकिन यह बजट यात्रियों के लिए एक आदर्श छुट्टी गंतव्य भी माना जाता है। यहाँ करने के लिए बहुत सी चीजें हैं, और घूमने लायक कई जगहें हैं, जिन पर एक पैसा भी खर्च नहीं होगा। यहां के बोटैनिकल गार्डन (Botanical Garden) में प्रकृति की सैर का आनंद लेने से लेकर मेरलियन के साथ पोज़ देने तक, कई लोकप्रिय अनुभव हैं जो सिंगापुर मुफ्त में प्रदान करता है। उदाहरण के तौर पर सिंगापुर वनस्पति उद्यान में उष्णकटिबंधीय ऑर्किड (tropical orchids), दुनिया का सबसे सुंदर और सबसे बड़ा प्रदर्शन देखने को मिलता है। साथ ही यदि सिंगापुर जाकर आप पर्यटक के रूप में एक भी पैसा खर्च करने से बचना चाहते हैं, तो मरीना बे में लाइट शो (Light Show at Marina Bay)का आनंद ले सकते हैं। यहाँ आयोजित किया जाने वाला स्पेक्ट्रा - ए लाइट एंड वाटर शो (Spectra - A Light and Water Show), एशिया के सबसे बड़े लाइट एंड वॉटर शो में से एक है।

संदर्भ
https://bit.ly/3wqeYo6
https://bit.ly/3L2nCP2
https://bit.ly/3yvsiKL
https://bit.ly/3ytDA25

चित्र संदर्भ
1. नदी में नहाते बच्चों को दर्शाता एक चित्रण (Max Pixel)
2. कुंभ स्नान को दर्शाता एक चित्रण (wikimedia)
3. जौनपुर में गोमती नदी पर बने पुल को दर्शाता एक चित्रण (wikimedia)
4. गोमती नदी में स्नान को दर्शाता एक चित्रण (flickr)
5. मरीना बे में लाइट शो को दर्शाता एक चित्रण (wikimedia)



RECENT POST

  • पूर्वोत्तर राज्य नागालैंड की प्राकृतिक सुंदरता व नागा जनजातियों की विविध जीवनशैली का दर्शन
    सिद्धान्त 2 व्यक्ति की पहचान

     30-06-2022 08:40 AM


  • कोविड सहित मंकीपॉक्स रोग के दोहरे बोझ से बचने के लिए जरूरी उपाय करना आवश्यक है
    कोशिका के आधार पर

     29-06-2022 09:22 AM


  • शानदार शर्की वास्तुकला की गवाही देती हैं, अटाला सहित जौनपुर की अन्य खूबसूरत मस्जिदें
    वास्तुकला 1 वाह्य भवन

     28-06-2022 08:21 AM


  • फैशन जगत में अपना एक नया स्‍थान बना रहा है मछली का चमड़ा
    मछलियाँ व उभयचर

     27-06-2022 09:29 AM


  • शरीर पर घने बालों के साथ भयानक ताकत और स्वभाव वाले माने जाते थे गोरिल्ला
    शारीरिक

     26-06-2022 10:13 AM


  • सिकुड़ते प्राकृतिक आवासों के बीच, गैर बर्फीले क्षेत्रों के अनुकूलित हो रहे हैं, ध्रुवीय भालू
    निवास स्थान

     25-06-2022 09:58 AM


  • क्या वास्तव में फ्रोज़न खाद्य पदार्थ की बढ़ती लोकप्रियता ने बदल दिया है भारतीय खाद्य उद्योग को?
    स्वाद- खाद्य का इतिहास

     24-06-2022 09:52 AM


  • सामाजिक व् राजनीतिक अन्याय के विरोध का रचनात्मक, शक्तिशाली रूप है, हिप-हॉप या रैप संगीत
    ध्वनि 1- स्पन्दन से ध्वनि

     23-06-2022 09:39 AM


  • पश्चिमी देशों में योग की लोकप्रियता का श्रेय किसे जाता है?
    विचार 2 दर्शनशास्त्र, गणित व दवा

     22-06-2022 10:25 AM


  • हथियारों के रूप में कीड़ों का उपयोग
    तितलियाँ व कीड़े

     21-06-2022 10:02 AM






  • © - 2017 All content on this website, such as text, graphics, logos, button icons, software, images and its selection, arrangement, presentation & overall design, is the property of Indoeuropeans India Pvt. Ltd. and protected by international copyright laws.

    login_user_id