आखिरकार क्या है पासपोर्ट, इसका क्या उपयोग है, और कैसे इसे बनवाया जाए?

जौनपुर

 13-12-2018 11:08 AM
सिद्धान्त 2 व्यक्ति की पहचान

इतना तो हम सभी जानते है कि यदि आपको विदेश यात्रा करनी हो तो आपको पासपोर्ट की आवयश्कता पड़ती ही है, परंतु आपने सोचा है कि पासपोर्ट की वास्तविकता है क्या? यदि आप पासपोर्ट बनवाना चाहते है तो आपके लिए ये जानना बेहद जरुरी है की आखिर क्या है पासपोर्ट? इसका क्या उपयोग है, और यह कैसे जारी किया जाता है?

पासपोर्ट एक प्रकार का कानूनी दस्तावेज है, जो कि भारत के राष्ट्रपति द्वारा जारी किया जाता है। इसका उपयोग विदेश में यात्रा करने के लिए किया जाता है। इसके द्वारा ही पता चलता है कि आप किस देश के नागरिक है। किसी दूसरे देश जाने के लिये यह अति आवश्यक होता है। यह किसी भी व्यक्ति को अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर यात्रा करने में सक्षम बनाता है और पासपोर्ट अधिनियम (1967) के अनुसार यह देश की नागरिकता के प्रमाण के रूप में कार्य करता है। इस पासपोर्ट में व्यक्ति का नाम, पहचान, जन्म की तारीख और उसके हस्ताक्षर होते हैं। इन सब के अलावा पासपोर्ट में व्यक्ति की पहचान के लिए और भी अन्य प्रकार की जानकारियां दी जाती हैं। पासपोर्ट एक तरह का पहचान पत्र होता है। इसे आप फोटो पहचान पत्र के रूप में आप पासपोर्ट का उपयोग कर सकते हैं साथ ही साथ इसका उपयोग एड्रेस प्रूफ (Address proof) के तौर पर भी किया जा सकता है।

कॉन्सुलर के पासपोर्ट सेवा इकाई और विदेश मंत्रालय का पासपोर्ट और वीजा (सीपीवी) डिवीजन, ये दोनों ही केंद्रीय पासपोर्ट संगठन के रूप में कार्य करते हैं। और सभी योग्य भारतीय नागरिकों की पासपोर्ट जारी करने की मांग को पूरा करने के लिए जिम्मेदार है। देश में पासपोर्ट बनाने के लिए कुल 93 पासपोर्ट कार्यालय और विदेश में 162 भारतीय राजनयिक मिशन हैं, जिनमें नवंबर 2014 तक लगभग 6 करोड़ पासपोर्ट बनाए जा चुके हैं। आजकल अधिकतर सभी देशों के द्वारा पासपोर्ट बनाए जाते है, जो मुख्यतः तीन प्रकार के होते है साथ ही तीनों का अलग-अलग महत्व होता है:

नियमित पासपोर्ट (Ordinary passport):
इसमें नियमित पासपोर्ट में गढ़े नीले रंग का कवर होता है और यह साधारण यात्रा के लिए जारी किया जाता है, जैसे कि अवकाश और व्‍यापार संबंधी दौरे आदि। यह एक ‘टाइप पी’ (‘पी’ मतलब पर्सनल (Personal)) पासपोर्ट है और आम नागरिकों के लिए बनाया जाता है।

आधिकारिक पासपोर्ट (Official passport):
इस पर सफेद रंग का कवर होता है और यह आधिकारिक कार्य से जाने वाले भारतीय अधिकारियों को जारी किया जाता है। यह एक ‘टाइप एस’ (‘एस’ मतलब सर्विस (service)) पासपोर्ट है।

डिप्‍लोमेटिक पासपोर्ट (Diplomatic passport):
यह ‘टाइप डी’ (‘डी’ मतलब डिप्लोमेटिक (Diplomatic)) पासपोर्ट है, जिसमें मैरून रंग का कवर होता है और यह भारतीय डिप्‍लोमेट, वरिष्‍ठ स्‍तर के सरकारी अधिकारियों और डिप्‍लोमेटिक कुरियर को जारी किया जाता है।

भारतीय पासपोर्ट कैसा दिखता है?
वर्तमान में पासपोर्ट के कवर पर सुनहरे रंग से भारत का प्रतीक मुद्रित होता है और इस प्रतीक के ऊपर हिंदी व अंग्रेजी में पासपोर्ट का प्रकार लिखा होता है तथा प्रतीक के नीचे दोनों देवनगरी में ‘भारत गणराज्य’ और अंग्रेजी में ‘रिपब्लिक ऑफ़ इंडिया’ (Republic of India) लिखा होता है। किसी भी पासपोर्ट में 36 पेज होते है, परंतु यदि कोई व्यक्ति जो अक्सर यात्रा करता है तो वहां ऐसे पासपोर्ट के लिये भी आवेदन कर सकता है जिसमें 60 पेज होते हो। पासपोर्ट के पहले पेज पर पासपोर्ट धारक की जानकारी जैसे कि देश का कोड, पासपोर्ट संख्या, उपनाम, राष्ट्रीयता, लिंग, जन्म की तारीख, जारी करने की जगह, जारी करने की तारिख, समाप्ति तिथि, पासपोर्ट धारक का फोटो आदि होते हैं तथा अंतिम पेज में अभिभावक का नाम, पति/पत्नी का नाम, पता, पुराना पासपोर्ट नंबर, फाइल संख्या आदि होता है।

पासपोर्ट के लिये कैसे आवेदन करें?
पासपोर्ट बनवाने का सबसे तेज और सरल तरीका है ऑनलाइन। कोई भी व्यक्ति पासपोर्ट सेवा वेबसाइट या पासपोर्ट सेवा ऐप के माध्यम से भारतीय पासपोर्ट के लिए ऑनलाइन आवेदन कर सकता है। पासपोर्ट के लिए आवेदन करने की विस्तृत प्रक्रिया नीचे उल्लिखित है:

1. सर्वप्रथम तो आपको पासपोर्ट सेवा ऑनलाइन पोर्टल  पर पंजीकरण करने की आवश्यकता है। आप वेबसाइट पर जा कर आसानी से पंजीकृत लॉगिन आई.डी. (login ID) बना सकते है। यदि आपकी पहले से लॉगिन आई.डी. बनी हुई है तो अपना पासवर्ड डाले और लॉगिन करें।

2. इसके बाद आवेदक को यदि नया पासपोर्ट बनवाना है तो वह नये पासपोर्ट के विकल्प पर क्लिक या पुन: जारी करवाना है तो पुन: जारी विकल्प पर क्लिक करें।

3. इसके बाद सामने दिखाई देने वाले फॉर्म को पूरा भरें। इसमें आपको अपनी जरूरी जानकारियां भरनी होंगी। फॉर्म भर जाने के बाद इसे सबमिट (submit) करें।

4. इसके बाद के चरण में आपको पासपोर्ट की फीस का भुगतान करना होगा, फीस देने के बाद वहीं पर आपको एक अप्वाइंटमेंट (Appointment) भी लेना होता है। जिसके लिये आपको संरक्षित/सबमिट आवेदन लिंक पर क्लिक करना होगा।

5. इसके बाद आवेदन रसीद प्रिंट करें (Print Application Receipt) पर क्लिक करके एप्लिकेशन (application) का प्रिंटआउट ले सकते हैं, जिस पर एप्लिकेशन रेफेरेंस नंबर (Application Reference Number - ARN) लिखा होता है।

6. अगले चरण में जिस दिन का भी आपने अप्वाइंटमेंट लिया हो, उस दिन अपने असली दस्तावेजों के साथ अपने क्षेत्र के पासपोर्ट सेवा केंद्र (पीएसके) या क्षेत्रीय पासपोर्ट कार्यालय (आरपीओ) जाइए और अपना वेरिफिकेशन (Verification) कराइए।

यदि आप पासपोर्ट ऑफ़लाइन बनाना चाहते है तो आवेदन पत्र का प्रिंटआउट डाउनलोड (Download) करके प्रिंट करवा लीजिए और इसे ठीक से भर कर प्रासंगिक दस्तावेजों के साथ केंद्र में जमा कर दीजिए। पासपोर्ट बनवाने के लिए कुछ दस्तावेज़ भी चाहिए होते है जैसे कि:

1. आवासीय पते से संबंधित प्रमाण,
2. आवेदक का आधार कार्ड, राशन कार्ड, पैन कार्ड, वोटर आई.डी.
3. प्रतिष्ठित कंपनियों के मालिक द्वारा लेटर हैड पर दिया गया प्रमाणपत्र
4. पानी/ टेलीफोन/ बिजली का बिल
5. चालू बैंक खाते का स्टेटमेंट (statement)
6. गैस कनेक्शन बिल
7. नाबालिगों के मामले में माता-पिता के पासपोर्ट की छायाप्रति (photocopy)
8. जन्म प्रमाणपत्र तथा फोटो आदि

भारत सरकार ने सार्वजनिक सेवाओं के वितरण में सुधार लाने के लिए कई कदम उठाए हैं। सितंबर 2007 में, भारतीय केंद्रीय कैबिनेट ने पासपोर्ट सेवा परियोजना के तहत एक नये पासपोर्ट जारी करने की व्यवस्था को मंजूरी दी थी। इस परियोजना के अनुसार, पासपोर्ट जारी करने की फ्रंट-एंड (front-end) गतिविधियों, पासपोर्ट प्रेषण, पुलिस के साथ ऑनलाइन लिंकिंग, और पासपोर्ट की केंद्रीकृत मुद्रण के लिए केंद्रीय प्रिंटिंग यूनिट को स्थापित किया। आवेदक को 77 पासपोर्ट कार्यालयों (जोकि पूरे देश भर में “पासपोर्ट सेवा केंद्र” के नाम से जाने जाते है) में से एक के माध्यम से पासपोर्ट के नये/ पुन: जारी के लिये आवेदन करना होगा।

भारत ने हाल ही में भारत और विदेशों में राजनयिक पासपोर्ट धारकों के लिए बॉयोमीट्रिक ई-पासपोर्ट (biometric e-passport) के पहले चरण की शुरूआत की है। ये नए पासपोर्ट केंद्रीय पासपोर्ट संगठन, भारत सुरक्षा प्रेस और आईआईटी (IIT) कानपुर द्वारा स्थानीय रूप से डिजाइन किए गए हैं।

संदर्भ:

1. https://en.wikipedia.org/wiki/Indian_passport
2. https://bit.ly/2PzJYKR



RECENT POST

  • अत्यधिक रंजित मोम का स्राव करते हैं लाख या लाह कीट
    तितलियाँ व कीड़े

     10-07-2020 05:34 PM


  • भारत के हितों में गुटनिरपेक्ष आंदोलन का पुनरुद्धार और प्रभावशीलता
    नगरीकरण- शहर व शक्ति

     08-07-2020 06:48 PM


  • भारत में नवपाषाण स्वास्थ्य बदलाव
    सभ्यताः 10000 ईसापूर्व से 2000 ईसापूर्व

     08-07-2020 07:44 PM


  • सूफीवाद पर सबसे प्राचीन फारसी ग्रंथ : कासफ़-उल-महज़ोब
    ध्वनि 2- भाषायें

     07-07-2020 04:55 PM


  • जौनपुर की अद्भुत मृदा
    भूमि प्रकार (खेतिहर व बंजर)

     06-07-2020 03:37 PM


  • आईएसएस को आपकी छत से देखा जा सकता है
    य़ातायात और व्यायाम व व्यायामशाला

     04-07-2020 07:22 PM


  • भारत के दलदल जंगल
    जंगल

     03-07-2020 03:16 PM


  • शाश्वत प्रतीक्षा का प्रतीक है नंदी (बैल)
    विचार I - धर्म (मिथक / अनुष्ठान)

     03-07-2020 11:09 AM


  • शिल्पकारों के कलात्मक उत्साह को दर्शाती है पेपर मेशे (Paper mache) हस्तकला
    द्रिश्य 3 कला व सौन्दर्य

     01-07-2020 11:53 AM


  • इत्र उद्योग में जौनपुर का गुलाब
    गंध- ख़ुशबू व इत्र

     01-07-2020 01:18 PM






  • © - 2017 All content on this website, such as text, graphics, logos, button icons, software, images and its selection, arrangement, presentation & overall design, is the property of Indoeuropeans India Pvt. Ltd. and protected by international copyright laws.