विश्व के पहले एसिड हाउस (इलेक्ट्रॉनिक) संगीत का निर्माण भारत के बॉलीवुड से एक इत्तफाक है

जौनपुर

 18-11-2018 09:51 AM
ध्वनि 1- स्पन्दन से ध्वनि

चारंजित सिंह मुंबई के एक भारतीय संगीतकार थे, जिन्होंने सत्र संगीतकार के रूप में प्रदर्शन किया वह अक्सर गिटारवादक या सिंथेसाइज़र प्लेयर के रूप में काम करते थे। चारंजित सिंह का कैटलॉग अस्पष्टता में गायब हो सकता था, पर एक सम्प्रदायक एल्बम टेन रागास ऑफ़ डिस्को बीट से उनके जीवन जो एक बड़ी तरक्की मिली, जिसे उन्होंने 1982 में मुंबई में कुछ दिनों में बनाया था। यह एल्बम वह पौराणिक रिकॉर्ड में से एक है जिन्होंने रोलैंड टीबी 303 synth(Roland TB 303 synth) का इस्तेमाल करा। जोकि एसिड हाउस(Acid House) ध्वनि से समानार्थी मशीन है। चारंजित सिंह ने समान रूप से प्रसिद्ध रोलाण्ड टीआर 808 (Roland TR 808) के साथ रोलैंड टीबी 303 को आश्चर्यजनक रूप से जोड़ा।

एल्बम निकलने के बाद इस एल्बम को इतनी प्रसिद्धि नहीं मिली लेकिन 2002 में इसको एक असामान्य प्रसिधी मिलनी शुरू हुई। 2002 और 2010 में इसे दोबारा निकला गया और इस एल्बम को इस समय एक अलग अवधान मिला । इसका मूल कारण एसिड हाउस नृत्य संगीत शैली था।

इस एल्बम की झलक आप ऊपर दिए गए विडियो में देख सकते है। उनके बॉलीवुड मे=के काम की भी एक झलकी आप निचे दिए गए विडियो म देख सकते है।


सन्दर्भ:

1.https://www.theguardian.com/music/2011/may/10/charanjit-singh-acid-house-ten-ragas
2. https://en.wikipedia.org/wiki/Charanjit_Singh_(musician)



RECENT POST

  • क्या आप जानते हैं कि विदेशी पक्षी भारत में देशांतरगमन के समय कब ,कैसे और कहां आते हैं?
    पंछीयाँ

     09-12-2022 10:54 AM


  • जलवायु संकट से लड़ने के लिए, हमें अपतटीय ड्रिलिंग का विस्तार करना बंद करना होगा
    समुद्री संसाधन

     08-12-2022 11:17 AM


  • विश्व मृदा दिवस विशेष: कृषि शिक्षा को नए सिरे से तैयार करने की आवश्यकता है
    भूमि प्रकार (खेतिहर व बंजर)

     07-12-2022 11:40 AM


  • जौनपुर के राष्ट्रीयकृत और निजी क्षेत्र के बैंक विभिन्न वित्तीय उद्देश्यों की पूर्ति करते हैं
    आधुनिक राज्य: 1947 से अब तक

     06-12-2022 10:17 AM


  • क्यों है एक बेहद अजीब और तीखी गंध वाली मछली मुंबई में इतनी लोकप्रिय?
    मछलियाँ व उभयचर

     05-12-2022 10:45 AM


  • कन्नौज में बने इत्र से आती, पहली बारिश के बाद की गीली मिटटी की सौंधी सी सुगंध
    गंध- ख़ुशबू व इत्र

     04-12-2022 03:08 PM


  • कर्मयोग का ज्ञान हमारे व्यक्तिगत जीवन और कार्यस्थलों में क्रांति घटित कर सकता है
    विचार 2 दर्शनशास्त्र, गणित व दवा

     03-12-2022 10:19 AM


  • क्या है कवक और कवक विज्ञान का इतिहास ?
    फंफूद, कुकुरमुत्ता

     02-12-2022 10:31 AM


  • एड्स बिमारी के कलंक को मिटाने के लिए जरूरी हैं सामूहिक प्रयास व जागरूकता कार्यक्रम
    विचार 2 दर्शनशास्त्र, गणित व दवा

     01-12-2022 11:40 AM


  • भारत की यह विशाल गिलहरी अपनी चंचलता और आवास दोनों खो रही है
    निवास स्थान

     30-11-2022 10:17 AM






  • © - 2017 All content on this website, such as text, graphics, logos, button icons, software, images and its selection, arrangement, presentation & overall design, is the property of Indoeuropeans India Pvt. Ltd. and protected by international copyright laws.

    login_user_id